उद्धव ठाकरे के करीबी मंत्री ने लॉकडाउन में बना डाला करोड़ों का अवैध रिसॉर्ट: BJP नेता किरीट सोमैया ने खोली पोल

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार के कैबिनेट मंत्री और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के करीबी कहे जाने वाले अनिल परब पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए। सोमैया का आरोप है कि परब ने रत्नागिरी के दपोली इलाके में कृषि भूमि पर 10 करोड़ रुपए का अवैध साईं रिसॉर्ट बनवाया और इसके लिए फर्जी दस्तावेजों का उपयोग किया है।

किरीट सोमैया के आरोपों के अनुसार महाराष्ट्र के मंत्री और शिवसेना नेता अनिल परब ने रत्नागिरी जिले के दपोली में एक तीन मंजिला इमारत का निर्माण कराया। परब ने 22 कमरों के इस आलीशान रिसॉर्ट का निर्माण पिछले साल लॉकडाउन (2020) में शुरू किया था। एक साल में इस रिसॉर्ट का निर्माण पूरा हुआ।

सोमैया ने आरोप लगाया है कि इस रिसॉर्ट के निर्माण के लिए न तो कोस्टल रेग्युलेशन जोन (CRZ) के तहत अनुमति ली गई और न ही रिसॉर्ट के निर्माण के लिए। चूँकि यह निर्माण समुद्र तटीय इलाके में हुआ है अतः नियमों के अनुसार निर्माण के लिए CRZ के तहत अनुमति लेना अनिवार्य है। सोमैया ने इसके बाद बताया है कि अनुमति न लेने के बाद जब रिसॉर्ट का निर्माण पूरा हुआ तब 11 मई 2021 को अनिल परब ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर रिसॉर्ट को वैध कराने का प्रयास भी किया।

किरीट सोमैया द्वारा शिवसेना नेता अनिल परब पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोप

भाजपा नेता किरीट सोमैया ने 6 मई 2021 को उस जगह का दौरा किया जहाँ यह रिसॉर्ट बनाया गया है। सोमैया ने जिलाधीश और केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर से इसकी शिकायत की है। सोमैया के अतिरिक्त भाजपा गोपाल शेट्टी गिरीश बापट और मनोज कोटक ने भी जावडेकर से यह माँग की है कि एक पर्यावरणीय टीम भेजी जाए जो इस रिसॉर्ट के निर्माण में CRZ के तहत किए गए उल्लंघन की जाँच कर सके।

किरीट सोमैया का कहना है कि शिवसेना के नेता अनिल परब ने 19 जून 2019 विभाष साठे से 42 गुंठा कृषि भूमि खरीदने का एग्रीमेंट किया। 26 जून 2019 को अनिल परब ने मुरुड में निर्मल ग्राम पंचायत को यह बताया कि उन्होंने साठे से कृषि योग्य भूमि खरीदी है जिस पर रिसॉर्ट बना हुआ है।

भाजपा ने मंत्री अनिल परब पर कार्रवाई की माँग की है और कहा है कि अवैध रूप से बने रिसॉर्ट को ध्वस्त किया जाए। भाजपा का मानना है कि सरकारी दस्तावेजों में छेड़छाड़ करने के कारण अनिल परब को मंत्री पद से हटा दिया जाना चाहिए।

इससे पहले भी किरीट सोमैया महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा चुके हैं। सोमैया ने हाल ही में आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र में परिवहन मंत्रालय में भ्रष्टाचार फैला हुआ है और लगभग 500 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है जिसकी सीबीआई जाँच होनी चाहिए।

Leave a Comment