कई किसानों के खातों में नहीं आई राजीव गांधी न्याय योजना की राशि

Publish Date: | Thu, 25 Mar 2021 11:15 PM (IST)

धमतरी । समर्थन मूल्य पर धान बेचने के बाद किसानों को 2500 रुपये के अंतर की राशि की चौथी किस्त कोर्रा ब्रांच के 15 से अधिक गांवों के किसानों के खातों में जमा नहीं हुई है। ये सभी किसान बैंक खाता में रुपये जमा होने और मोबाइल पर एसएमएस आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। ज्ञात हो कि चौथी किस्त की राशि राज्य सरकार ने राजीव गांधी न्याय योजना के तहत प्रदेशभर के अन्य किसानों के खातों में 21 मार्च को जमा कर दी है। पांच दिनों बाद भी राशि जमा नहीं होने से किसान चितिंत नजर आ रहे हैं।

राज्य सरकार की घोषणा के अनुसार 21 मार्च को समर्थन मूल्य पर बेचे गए धान के 2500 रुपये के अंतर की राशि को धमतरी जिले एक लाख 2498 किसानों के खातों में 56 करोड़ से अधिक की राशि जमा कर दी गई है, लेकिन यह राशि अब तक सभी किसानों के खातों में नहीं पहुंची है। ज्यादातर शिकायत जिला सहकारी केन्द्रीय मर्यादित बैंक कोर्रा शाखा के किसानों की है। ग्राम पंचायत रावां के सरपंच व किसान गोपालन पटेल, जनपद सदस्य व किसान मानिकराम साहू, गंगाराम साहू, देवधर पटेल, ग्राम कुर्रा के किसान रमाशंकर देवांगन, मड़ईभाठा के किसान उत्तम निषाद, खिलानंद साहू और पुरुषोत्तम साहू ने बताया कि 25 मार्च तक उनके खाते में चौथे किश्त की राशि जमा नहीं हो पाई है। उनके मोबाइल पर भी एसएमएस नहीं आया है। इससे पहले तीन बार जमा हुई किस्तों की राशि की जानकारी उनके मोबाइल पर सीधे आ गई थी। बैंक जाकर भी अपने खाता चेक करा चुके हैं, लेकिन राशि जमा नहीं हुई है, इससे किसानों की चिंता बढ़ गई है। इन किसानों को अपने बैंक खाता में अब चौथी किश्त की राशि आने का इंतजार है। गोपालन पटेल ने बताया आठ एकड़ में उत्पादित धान को बेचा है। प्रथम किस्त में उन्हें 20000 रुपये मिले थे। इसी तरह गंगाराम साहू को प्रथम किस्त 3500 रुपये, मानिक राम साहू को प्रथम किस्त 10000 रुपये, देवधर पटेल को 27000 रुपये समेत अन्य किसानों को भी इसी तरह राशि मिली थीं।

होली मनाने रुपये नहीं

चौथी किस्त की राशि पांच दिनों बाद भी नहीं आने से इन किसानों की चिंता बढ़ गई है। क्योंकि दो दिन बाद होली पर्व है। पर्व मनाने के लिए इन किसानों को रुपये की जरूरत है। राज्य सरकार द्वारा चौथे किस्त की राशि आने से वे खुश थे, लेकिन राशि जमा नहीं होने से वे फिलहाल परेशान हैं। होली पर्व के लिए इन किसानों को आर्थिक तंगी से जूझना पड़ेगा।

किसानों ने नहीं की शिकायत

इस संबंध में जिला नोडल अधिकारी प्रहलाद पुरी गोस्वामी ने बताया कि किसानों के खातों में रुपये जमा नहीं हुए हैं, इसकी जानकारी अब तक नहीं मिली है। यदि किसान किसान शिकायत करते हैं, तो अपेक्स तक इसकी जानकारी पहुंचाई जाएगी। जांच के बाद इन किसानों के खातों में राशि जमा हो जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 

Show More Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *