कुत्ते को ईंट मार फिरोज ने खड़ा किया फसाद: बागपत के गाँव में हिंसा, पुलिस तैनात

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के एक गाँव में कुत्ते को ईंट मारने से शुरू हुआ विवाद दो पक्षों के बीच संघर्ष में तब्दील हो गया। इस दौरान हथियार भी लहराए गए। इसमें दो महिला समेत चार लोग घायल हो गए। तनाव को देखते हुए गाँव में पुलिस की तैनाती की गई है।

घटना बुधवार (23 जून 2021) की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बागपत जिले के बालैनी थानाक्षेत्र के दत्तनगर गाँव में हुए संघर्ष के दौरान दोनों ओर से पथराव किया गया। धारदार हथियारों का भी इस्तेमाल हुआ। दोनों पक्षों ने बालैनी थाने पर शिकायत दर्ज कराई है।

एक पक्ष का आरोप है कि दूसरे वर्ग के लोगों ने तलवार व तमंचे लहराए और धार्मिक व भड़काऊ नारे लगाए। मामला दो समुदायों का होने से गाँव में तनाव का माहौल बना हुआ है। पुलिस ने इस मामले में एक पक्ष से जोगेंद्र और दूसरे पक्ष से अल्ताफ व फिरोज को गिरफ्तार कर शांतिभंग की धारा में चालान किया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बुधवार (23 जून 2021) की सुबह दत्तनगर गाँव में जोगेंद्र गिरी के मकान के सामने बैठे कुत्ते को पास के रहने वाले फिरोज ने ईंट मार दी। ईंट गिरी के मकान के अंदर जा गिरी। इसको लेकर दोनों के बीच कहासुनी हो गई, जो कुछ देर बाद मारपीट में बदल गई। शोर-शराबा सुनकर दोनों पक्षों के दर्जनों लोग मौके पर दौड़ पड़े और दोनों ओर से पथराव किया जाने लगा।

आरोप है कि फिरोज के पक्ष के कुछ युवकों ने धारधार हथियार से दूसरे पक्ष पर हमला कर दिया, जिससे वहाँ चीख-पुकार मच गई। इसमें जोगेंद्र पक्ष की महिला यशोदा, सविता, सागर व अनिल गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। अन्य लोग भी चोटिल हुए हैं और कई लोगों ने तो भागकर अपनी जान बचाई। ​इन सभी को पुलिस ने पिलाना सीएचसी में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने हालत गंभीर होने के चलते उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया है।

बालैनी थाना प्रभारी नरेश कुमार का कहना है कि इस मामले में जोगेंद्र की तहरीर पर एनसीआर दर्ज की गई है। एक पक्ष से जोगेंद्र व दूसरे पक्ष से अल्ताफ व फिरोज को गिरफ्तार कर शांतिभंग में चालान किया गया है। एहतियातन गाँव में पुलिस बल तैनात है।

बच्चों के खेलने को लेकर दो पक्षों में मारपीट

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक, उसी दिन या​नी बुधवार (23 जून) को ही चाँदीनगर थानाक्षेत्र के खट्टा प्रहलादपुर गाँव में बच्चों के खेलने को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। यामीन के बच्चे सरकारी नल के निकट खेल रहे थे, जिसका टिंकू पक्ष ने विरोध किया। इसको लेकर पहले दोनों पक्षों में पहले कहासुनी हुई और बाद में यह मारपीट में बदल गई। इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले, जिसमें दोनों पक्षों की ओर से यामीन, खलील और टिंकू घायल हो गए।

Leave a Comment