कृषि कानून के खिलाफ सड़क पर डटे किसान, रोका आवागमन

लखीमपुर: किसान नेता राकेश टिकैत के भारत बंद के आह्वान पर भाकियू के बैनर तले किसानों ने गोमती मोड़ पर जाम लगा दिया। जिससे काफी समय तक आवागमन बाधित रहा। हालांकि, पहले से सतर्क प्रशासन उनकी योजना को फेल करने में जुटा रहा।

एसडीएम स्वाति शुक्ला, सीओ अभय प्रताप मल्ल और प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार त्रिपाठी ने किसानों से वार्ता कर मोहम्मदी-लखीमपुर मार्ग को खुलवा दिया, इसके बाद किसान गोला रोड पर बैठ गए। वहां भी प्रशासनिक अधिकारी उन्हें बातचीत में उलझा कर बराबर वाहनों की आवाजाही सुनिश्चित करते रहे। इसके बाद किसान यूनियन के नेताओं ने अपनी मांगों से संबंधित एक ज्ञापन भी सौंपा। किसानों के जाम को लेकर प्रशासन सुबह से ही अलर्ट रहा। सुबह से ही भारी वाहनों को मोहम्मदी गोला मार्ग पर नहीं जाने दिया गया। उन्हें पुवायां रोड पर डायवर्ट कर दिया गया। इसके बाद 10 बजे से सीओ अभय प्रताप मल्ल दल बल के साथ गोमती मोड़ पर डट गए। एसडीएम ने भी किसानों को समझा-बुझाकर और उनसे वार्ता कर उन्हें सिर्फ गोला रोड पर जाम लगाने के लिए राजी कर लिया। जिससे आने जाने वालों को राहत मिली और कोई परेशानी नहीं हुई।

ममरी: गन्ना भुगतान को लेकर किसान मजदूर संगठन के अजान में चल रहे धरना प्रदर्शन व भूख हड़ताल का समर्थन करने पूर्व पुलिस अधिकारी एसआर दारापुरी ने नाराजगी जताई। कहा कि गोला चीनी मिल प्रबंधन वर्तमान सत्र का गन्ना खरीदकर मिल बंद कर चुका है। जबकि भुगतान सिर्फ दो दिन का दिया है। जिससे किसानों के जरूरी काम बंद हैं। भुगतान दिलाने के लिए कई बार आंदोलनरत हो चुके किसान मजदूर नेता श्रीकृष्ण वर्मा मिल की वादाखिलाफी के बाद अब अजान स्थित अपने आवास पर कई दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं। उनका स्वास्थ्य चेकअप डॉ. शरन जीत कौर के द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसान समस्याओं व कृषि बिल के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शन में जाने से सरकार जबरन रोक रही है। सरकार किसानों पर दमनचक्र चला रही है। सभा को रामनिवास वर्मा, नारायण लाल, डॉ. वीआर गौतम, देव प्रजापति आदि ने संबोधित किया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *