गरीबों के लिए केंद्र ने भेजा राशन, दिल्ली सरकार ने रखे-रखे सड़ा दिया: पैकेट्स पर लगी है केजरीवाल की फोटो, वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कई टन अनाज जमा किए हुए दिख रहे हैं। एक कमरे में पड़े हुए इस अनाज के ढेर का कोई उपयोग नहीं हो रहा है और ये पड़े-पड़े बर्बाद हो रहे हैं। पड़े-पड़े ये राशन खाने के योग्य भी नहीं बचा है और सड़ गया है। ऐसा लग रहा है जैसे काफी लंबे समय से ये यूँ ही पड़ा हुआ तो, तब उसकी ये हालत हुई है। लोग इसे जमाखोरी की करतूत बता रहे हैं।

लेकिन, सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात ये है कि राशन के उन पैकेट्स पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तस्वीर लगी हुई है। इस वीडियो को शेयर करते हुए दिल्ली भाजपा के महासचिव सिद्धार्थ ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को शर्म आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गरीबों के हक का जो पीएम मोदी ने मुफ़्त राशन भेजा था, वो प्रतिदिन दिल्ली सरकार के स्कूलों, सरकारी गोदोमों में सड़ा हुआ मिल रहा है।

उन्होंने इस वीडियो को वसंत कुंज का बताते हुए कहा कि ये साफ दर्शाता है की केजरीवाल गरीबों का हक़ मार कर कालाबाज़ारी में लगे हुए हैं। ‘दैनिक जागरण’ ने भी बसंत कुंज के निगम स्कूल में राशन सड़ने को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित की थी। ये राशन उन गरीबों के लिए आया था, जिनके पास दिल्ली का नागरिक होने का प्रमाण-पत्र नहीं था। दिल्ली में रह रहे प्रवासी मजदूर, जो घर नहीं गए और जिनकी आय भी लॉकडाउन में बंद थी, ये उनके हक़ का अनाज था।

केंद्र सरकार ने उनके लिए ही ये अनाज भेजा था, ताकि दिल्ली का नागरिक न होने के बावजूद उनके भूखे मरने की नौबत नहीं आए। खबर में बताया गया है कि जुलाई-अगस्त 2020 में ही राशन खराब होना शुरू हो गया था और उसकी जानकारी स्कूल के प्राचार्य ने फूड इंस्पेक्टर व खाद्य आपूर्ति अधिकारी से लेकर महरौली के विधायक नरेश यादव तक को थी। ये लोग अनाज हटाने की बात करते रहे, लेकिन तब तक ये सड़ गया।

सड़ने के बावजूद कोई अधिकारी तक इसे देखने नहीं आया। विधायक नरेश यादव कह रहे हैं कि केंद्र सरकार ने ही खराब राशन भेजा था, जबकि पहले 2-3 दिन इसका वितरण होने के बात उन्होंने भी स्वीकार की थी। दिल्ली सरकार को केंद्र से लगभग 700 टन अनाज पिछले साल मिले थे जिसे मसूदपुर के निगम स्कूल में रखा गया था। जब दुर्गंध आने लगी तो अनाज सड़ा हुआ मिला। भाजपा नेता रूपी यादव ने बसंत कुंज थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

वहीं दक्षिणी दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा है कि वो उप-राज्यपाल और केंद्र सरकार से दरख्वास्त करेंगे कि इस मामले की CBI जाँच की जाए। इधर अरविंद केजरीवाल फ्री राशन योजना की बातें कर रहे हैं। तभी भाजपा ने पूछा है कि दिल्ली में ‘वन नेशन-वन राशन कार्ड’ लागू क्यों नहीं हुआ? जबकि केंद्र देश भर में 2 रुपए प्रति किलो गेहूँ, 3 रुपये प्रति किलो चावल देती है। कोरोना काल में 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त अनाज मिल रहा है।

Leave a Comment