चार दिन बाद खुली बैंक, उमड़ी भीड़

जासं, मैनपुरी: चार दिन बंद रहने के बाद बुधवार को बैंक खुलीं तो लेन-देन के लिए खातेधारकों की भीड़ उमड़ पड़ी। निकासी और जमा करने के लिए लोगों को कई घंटे तक इंतजार करना पड़ा। ऐसे माहौल से कर्मचारी और ग्राहक परेशान नजर आए। भीड़ की वजह से कई बैंकों में अव्यवस्था भी दिखी। कोरोना बंदिशों का कहीं पालन होता नही दिखा।

दूसरे शनिवार और रविवार को अवकाश की वजह से बैंक बंद रहीं तो सोमवार व मंगलवार को निजीकरण के विरोध में कर्मचारी हड़ताल पर रहे। इस वजह से लगातार चार दिनों तक बैंकों में ताले पड़े। लगातार चार दिन तक बैंकों के बंद रहने से खातेधारकों को लेनदेन में परेशानी झेलनी पड़ी। शहर के तमाम एटीएम भी धन देना बंद कर गए तो नागरिकों की परेशानी और बढ़ती रही।

चार दिन बाद बैंक बुधवार को खुलीं तो जमा और निकासी के लिए खातेधारकों की लाइन लग गई। सुबह से ही तमाम लोग बैंकों के बाहर खड़े नजर आए। बैंकों के खुलते ही भीड़ बढ़ गई तो कर्मचारी झल्लाने लगे। स्टेट बैंक और बैंक आफ इंडिया में खातेधारकों की भीड़ सबसे ज्यादा दिखी। यहां लोगों को लाइन लगाकर बारी के लिए दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा। निजीकरण जरूरी

बैंक खुलते ही खातेधारकों की भीड़ लेनदेन को अधीर दिखी। देरी होने पर खातेधारक झल्लाने लगे। दो घंटे तक बारी नहीं आई तो खातेधारक निजीकरण को जरूरी बताने लगे। भाजपा कार्यकर्ताओ ने चौपाल में गिनाई उपलब्धियां

संसू, घिरोर : बुधवार को गांव रामा में भाजपा कार्यकर्ताओं ने किसान चौपाल लगाई। इसमें मंडल अध्यक्ष दीपक जैन ने किसान भाइयों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास कार्य का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार ने हर घर में शौचालय उपलब्ध कराया। हर गरीब को आवास दिलाने का काम किया है।

उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा हर किसानों को किसान निधि आदि योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री विकास कार्यों का खुद जायजा ले रहे हैं। जो कि अभी तक 70 सालों में नहीं हुआ। महामंत्री पंकज मिश्रा ने कहा कि सबका साथ सबका विश्वास सबके साथ और हर योजना का लाभ गरीब भाइयों को दिलाने का काम हमारी सरकार कर रही है। इस मौके पर रजनीश बघेल, राजू वर्मा, नीलकांत शाक्य, संध्या कठेरिया, शिवानी शाक्य, सोनू चौहान, मोनू चौहान, श्यासिंह, हृदयराम सुनील मौजूद रहे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *