जनता का CM, जनता के बीच: जमीन पर सबसे अधिक सक्रिय रहे CM योगी, परिणाम UP में तेजी से घटता संक्रमण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं जमीनी स्तर पर राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रयासरत हैं। सीएम आदित्यनाथ लगातार संक्रमण की स्थिति का जायजा लेने और रोकथाम के उपायों के बेहतर क्रियान्वयन के लिए राज्य के गाँवों की यात्रा कर रहे हैं।

शनिवार (22 मई) को पत्रकार शिल्पी सेन ने ट्वीट करके बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने इटावा में Covid-19 कन्टेनमेंट जोन का दौरा किया। पत्रकार द्वारा अपलोड किए गए वीडियो में सीएम आदित्यनाथ लोगों और पुलिस अधिकारियों के साथ चर्चा करते हुए देखे जा सकते हैं। उन्होंने कन्टेनमेंट जोन में दवाओं की आपूर्ति की जानकारी भी ली। 

शनिवार (22 मई) को सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में कोविड कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर का दौरा किया। इसके अलावा वे 17 मई और 21 मई को क्रमशः मुजफ्फरनगर और लखीमपुर के दौरे पर भी थे, जहाँ उन्होंने कोविड कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर में तैयारियों का जायजा लिया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ में 13 मई को इंटीग्रेटेड कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर का दौरा किया था। इसके पहले मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा यह जानकारी दी गई थी कि 8 मई को सीएम आदित्यनाथ मुरादाबाद पहुँचे थे जहाँ उन्होंने मनोहर गाँव का निरीक्षण किया था और लोगों को मिलने वाली दवाओं की पूरी जानकारी ली थी।

कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने यह आदेशित किया था कि घर में इलाज कराने वाले लोगों को भी ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कराई जाएगी। ऑक्सीजन की बढ़ती माँग को देखते हुए सीएम आदित्यनाथ ने निर्णय लिया था कि प्रत्येक जिले में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाएँगे।

ऑक्सीजन की माँग और आपूर्ति के प्रबंधन के लिए प्रदेश में मॉनिटरिंग सिस्टम भी बनाया गया जो ऑक्सीजन की रियल टाइम मॉनिटरिंग करता है। इसके अलावा संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर भी उत्तर प्रदेश में तैयारियाँ शुरू हो चुकी हैं।

गाँवों में संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार ने मॉनिटरिंग समितियों का गठन किया है। इन समितियों में आशा, आँगनवाड़ी और एएनएम कार्यकर्ता शामिल हैं, जो उत्तर प्रदेश सरकार के ‘टेस्ट-ट्रेस-ट्रीट’ की रणनीति पर ग्रामीण क्षेत्रों में 1 लाख से अधिक Covid-19 टेस्ट रोजाना कर रही हैं। गाँवों को संक्रमण से मुक्त करने के लिए योगी सरकार ने ‘मेरा गाँव कोरोना मुक्त गाँव’ अभियान भी शुरू किया है।

सक्रिय मरीजों की गिरती संख्या :

23 मई को उत्तर प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर 94,482 रह गई। Covid19India के आँकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश में नए संक्रमित मरीजों और सक्रिय मरीजों की सँख्या में गिरावट देखने को मिल रही है। राज्य में जहाँ लोगों में संक्रमण से ठीक होने की दर 93.2% हो गई है वहीं मृत्यु दर मात्र 1.1% के आसपास है।

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण का गिरता ग्राफ (साभार : Covid19India.org)

यह सब लगातार बढ़ती हुई टेस्टिंग और टीकाकरण के कारण संभव हो पाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश न केवल संक्रमण की दूसरी लहर के प्रभाव को काफी हद तक कम करने में सफल रहा बल्कि राज्य में अब तीसरी लहर से निपटने की तैयारियाँ भी जोरों से चल रही हैं।  

Leave a Comment