झोले में रखकर बम ले जा रहा था मोहम्मद अफरोज, सरिया से टकरा फटा? अब बिहार के अररिया में ब्लास्ट

बांका के मदरसे के बाद अब बिहार के अररिया जिले के एक गाँव में जबरदस्त विस्फोट की खबर सामने आई है। घटना में मोहम्मद अफरोज नाम का एक व्यक्ति घायल हुआ है। पुलिस को घटनास्थल से दो जिंदा बम भी मिले हैं। पुलिस ने बताया है कि घटना की हर एंगल से जाँच की जा रही है।

घटना अररिया जिले के बैरगाछी थाना क्षेत्र के अंतर्गत भुवनेश्वरी रामपुर गाँव की है। मीडिया खबरों के मुताबिक गुरुवार (10 जून) की शाम को रामपुर गाँव में आम के बगीचे के पास एक जोरदार धमाका हुआ। गाँव के लोगों ने इस धमाके की सूचना पुलिस को दी जिसके बाद बैरगाछी थाना प्रभारी हरेन्द्र कुमार मौके पर पहुँचे। मौके पर मोहम्मद अफरोज घायल पड़ा था।

पुलिस ने अफरोज को अवस्था में अस्पताल पहुँचाया और मामले की छानबीन शुरू की। पुलिस अफरोज के परिजनों और ग्रामीणों से पूछताछ कर रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बैरगाछी थाना प्रभारी हरेन्द्र कुमार ने आशंका व्यक्त की है कि संभवतः अफरोज झोले में बम लेकर कहीं जा रहा था, लेकिन रास्ते में निर्माणाधीन मकान की सरिया से टकरा कर बम वहीं फट गया।

इससे पहले बांका जिले के नवटोलिया क्षेत्र में बने मदरसे में विस्फोट की खबर आई थी। वहाँ नूरी मस्जिद इस्लामपुर परिसर के आगे एक मदरसे में 7 जून को विस्फोट से आसपास का इलाका थर्रा उठा था। मदरसा पूरी तरह से ध्वस्त हो गया था और मौलाना की मौत हो गई थी।

घटना के संबंध में मीडिया रिपोर्टों में डीएम और एसपी के हवाले से बताया गया था कि यह मदरसा अवैध था। धमाका कंटेनर में रखे एक देसी बम के फटने से हुआ था। डीएम ने बताया था कि मदरसे का रजिस्ट्रेशन नहीं था। यह 18-20 वर्षो से रैयती जमीन पर चल रहा था और यहाँ 50-60 बच्चों को तालीम दी जा रही थी।

इससे पहले भी साल 2020 में बिहार के दरभंगा जिले के आजमनगर मोहल्ले में मोहम्मद नजीर नदाफ के घर पर बम विस्फोट हुआ था। घटना तब हुई जब नजीर अपने घर पर ही बम बना रहा था। घटना में नजीर के ही तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए थे, लेकिन नजीर और उसकी पत्नी अफशाना खातून उन्हें छोड़कर फरार हो गए थे। हालाँकि पुलिस ने बाद में दोनों को पकड़ लिया था।

Leave a Comment