ट्विटर को केंद्र सरकार की लताड़: कहा- Manipulated Media का टैग हटाओ; टूलकिट असली या नकली, एजेंसियाँ तय करेंगी

भारत सरकार ने ट्विटर को कॉन्ग्रेस टूलकिट से जुड़ी फोटो शेयर करने पर ‘मैनिपुलेटेड मीडिया (Manipulated Media)’ टैग लगाने के लिए लताड़ लगाई है। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ट्विटर से यह टैग हटाने के लिए कहा है। मंत्रालय ने यह भी कहा है कि टूलकिट सही है अथवा गलत, यह तय करना जाँच एजेंसियों का काम है न कि ट्विटर का।

सूत्रों के अनुसार सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से ट्विटर की ग्लोबल टीम से संपर्क किया गया है। मंत्रालय ने कहा है कि ट्विटर द्वारा कॉन्ग्रेस के टूलकिट के लिए ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ का उपयोग किया जाना एकपक्षीय निर्णय है। साथ ही यह भी कहा कि एजेंसियों ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए जाँच शुरू कर दी है।

साथ ही मंत्रालय ने यह भी कहा है कि ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ टैग का उपयोग किया जाना न केवल ट्विटर के निष्पक्ष व्यवहार पर प्रश्न उठाता है, बल्कि उसके एक निष्पक्ष प्लेटफॉर्म होने के दावे पर भी सवाल खड़ा करता है।

आपको बता दें कि कॉन्ग्रेस ने बुधवार (19 मई) को ट्विटर को ईमेल किया था। इसमें कहा था कि कॉन्ग्रेस के टूलकिट के विषय में पोस्ट करने वाले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रवक्ता सम्बित पात्रा और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत अन्य भाजपा नेताओं के ट्विटर हैन्डल सस्पेंड किए जाएँ।

कॉन्ग्रेस का कहना था कि भाजपा के ये सभी सदस्य जिस टूलकिट को कॉन्ग्रेस का बता रहे हैं वह फर्जी है। हालाँकि अभी तक कॉन्ग्रेस अपने इस दावे की पुष्टि के लिए कोई सबूत नहीं दे सकी है।

इस टूलकिट में कोरोना वायरस के समय केंद्र की मोदी सरकार और उसके मंत्रियों को बदनाम करने के दिशा-निर्देश दिए गए थे। इसके अलावा इस टूलकिट में विदेशी मीडिया से साँठ-गाँठ की बातें भी कही गई हैं। टूलकिट में हिंदुओं के महान पर्व कुंभ को भी बदनाम करने की साजिश की गई है।

हालाँकि कॉन्ग्रेस द्वारा ट्विटर से शिकायत करने के एक दिन के भीतर ही ट्विटर ने टूलकिट दस्तावेज को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ की कैटेगरी में रख दिया और टूलकिट से सबंधित ट्वीट करने वाले भाजपा प्रवक्ता सम्बित पात्रा के ट्वीट पर ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ का टैग लगा दिया।  

Updated: November 26, 2021 — 2:35 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *