ड्रिप पद्धति से 73 हेक्टेयर में होगी सिंचाई, इस योजना के तहत 55 फीसदी अनुदान में मिल रहा लाभ

किसानों से मंगाए जा रहे आवेदन, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का दिया जाना है लाभ, हालांकि किसान नहीं दिखा रहे रुचि

कटनी. खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए जिले के काई किसान मिसाल बने हैं। नई-नई तकनीक का उपयोग, बीजोपचार, मृदा परीक्षण सहित कृषि यंत्रों का उपयोग कर बेहतर मुनाफा कमा रहे हैं। उद्यानिकी विभाग द्वारा किसानों को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत ड्रिप सिस्टम से लाभान्वित किया जाना है। इसके लिए जिले में 73 हेक्टेयर में सिंचाई का लक्ष्य रखा गया है, जिसके लिए किसानों ने ऑनलाइन आवेदन मंगाए जा रहे हैं। बता दें कि अभी तक 38 हेक्टेयर के आवेदन की पूर्ति कर ली गई है। 43 किसानों ने योजना के तहत आवेदन किया है। अनुसूचित जनजाति में 4, अनुसूचित जाति के 10 आवेदन आए हैं। इसमें अजजा के लिए 15 हेक्टेयर व अजा के लिए 27 हेक्टेयर का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना में 45 व 55 प्रतिशत अनुदान उद्यानिकी विभाग द्वारा दिया जाना है।

किसान नहीं कर रहे ज्यादा आवेदन
हालांकि जिले के किसान योजनाओं का लाभ उठाने रुचि नहीं दिखा रहे। 50 प्रतिशत से भी अधिक अनुदान होने के बाद भी ड्रिप के लिए आवेदन नहीं कर रहे। बता दें कि जनवरी माह में अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के लिए योजना का लक्ष्य मिला, लेकिन एक दर्जन भी आवेदन नहीं आए तो फिर इसे लघु और सीमांत किसानों के लिए भी शुरू किया गया, जिसक बाद आवेदनों में कुछ तेजी आई है।

इनका कहना है
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत जिले के किसानों से आवेदन मंगाए जा रहे हैं। अभी तक 42 आवेदन आ गए हैं। इस योजना के तहत 73 हेक्टेयर सिंचाई का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें किसानों को योजना के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
एसबी सिंह, जिला उद्यानिकी अधिकारी।









Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *