दिल्ली पुलिस ने कहा- हिंसक प्रदर्शनकारियों ने लोगों की जिंदगी को खतरे में डाला, सख्त कानूनी कार्रवाई होगी 

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को कहा कि हिंसक प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी, जिन्होंने न केवल पुलिस के साथ पारस्परिक रूप से सहमत दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया, बल्कि किसानों प्रदर्शनों की आड़ में दिल्ली की सड़कों पर उग्रता का प्रदर्शन किया और संपत्तियों को क्षतिग्रस्त किया। किसानों के इस व्यवहार से ड्यूटी पर गए पुलिसकर्मियों का जीवन भी खतरे में पड़ गया।

दिल्ली पुलिस ने एक बयान में कहा कि पुलिस ने पेशेवर तरीके से कार्रवाई की और दिशानिर्देशों का पालन किया, लेकिन प्रदर्शनकारी किसानों ने निर्धारित समय से पहले ट्रैक्टर रैली निकाली, जिससे राजधानी में कानून और व्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई।

पुलिसकर्मियों को घायल करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई
दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार ने कहा कि कानून के अनुसार, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों और दिल्ली पुलिस कर्मियों को घायल करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कुछ ने पुलिसकर्मियों पर अपने ट्रैक्टर चलाने की भी कोशिश की। दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से भी हिंसा को रोकने और निर्धारित मार्गो पर जल्द से जल्द लौटने की अपील की है।

वीडियो जारी कर प्रदर्शनकारियों के दावे का खंडन किया
इस बीच दिल्ली पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों के दावे का खंडन करने के लिए एक वीडियो फुटेज भी जारी किया है, जिसके तहत किसानों ने कहा है कि आईटीओ में पुलिस द्वारा कथित तौर पर एक व्यक्ति को गोली मार दी गई थी। वीडियो के माध्यम से पुलिस ने दावा किया कि तेज रफ्तार ट्रैक्टर आईटीओ के पास डीडीयू मार्ग पर पलट गया, जिससे उसकी मौत हो गई।

आईटीओ में पुलिस और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच झड़पें देखी गईं, क्योंकि किसानों के एक वर्ग ने शहर के दिल में दिल्ली पुलिस द्वारा की गई सुरक्षा व्यवस्था को तोड़ने की कोशिश की। इस बीच, बाद में अतिरिक्त अर्धसैनिक बलों को राजधानी में तैनात किया गया। 



Home

Categories Uncategorized

Leave a Comment