दुनिया के बेहतरीन 11000 खिलाड़ी होंगे, पर देखने वाला कोई नहीं होगा: टोक्यो में इमरजेंसी, बिना दर्शकों के होगा ओलंपिक

जापान की राजधानी टोक्यो में 23 जुलाई 2021 से शुरू हो रहे ओलंपिक में दर्शकों के जाने पर पाबंदी लगाई गई है। जापान में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने आपातकाल की घोषणा कर दी है, जिसके कारण यह निर्णय लिया गया है। दर्शकों पर प्रतिबंध की घोषणा के बाद अब ओलंपिक गेम्स का प्रसारण टीवी तक ही सीमित रहेगा।

दरअसल जापान की राजधानी टोक्यो में पिछले कुछ दिनों से Covid-19 संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। इस दौरान कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएन्ट ने प्रशासन की चिंताएँ बढ़ा दी हैं। हालाँकि टोक्यो में पहले ही विदेशी दर्शकों को प्रतिबंधित किया जा चुका है लेकिन डेल्टा वैरिएन्ट का खतरा बढ़ने के कारण अब निर्णय लिया गया है कि स्थानीय दर्शकों को भी ओलंपिक गेम्स के दौरान प्रतिबंधित किया जाएगा।

मीडिया से चर्चा के दौरान जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने बताया कि आगामी सोमवार (12 जुलाई 2021) से लागू होने वाला आपातकाल 22 अगस्त 2021 तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान टोक्यो में कड़े प्रतिबंध लागू रहेंगे। आपातकाल लगाए जाने के बाद अब 23 जुलाई से 8 अगस्त तक चलने वाले ओलंपिक गेम्स पूरी तरह से आपातकाल के नियमों के मुताबिक संचालित होंगे। 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक गेम्स में भाग लेने के लिए पूरी दुनिया भर से लगभग 11,000 खिलाड़ी टोक्यो पहुँचेंगे, साथ ही इन खिलाड़ियों के साथ हजारों की संख्या में सहायक स्टाफ के सदस्य भी होंगे।

टोक्यो में लगाए गए इस आपातकाल के दौरान शराब परोसने वाले बार, रेस्टोरेंट और ऐसे ही अन्य स्थानों को या तो बंद किया गया है या उनके संचालन के समय को सीमित किया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि ये कुछ ऐसे स्थान हैं, जहाँ से भीड़ के इकट्ठा होने की गुंजाइश बहुत ज्यादा होती है। इसी कारण लोगों को इकट्ठा होने से रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है।

हालाँकि, ओलंपिक गेम्स में दर्शकों को प्रतिबंधित करने से आयोजकों को कितना नुकसान होगा, इसकी जानकारी फिलहाल अभी उपलब्ध नहीं है। हालाँकि, टोक्यो ओलंपिक के सीईओ तोशिरो मुतो ने जानकारी दी कि आयोजक दर्शकों की कमी से होने वाले नुकसान की भरपाई करने के लिए स्टाफ की छँटनी भी की जा सकती है। ओलंपिक गेम्स के संचालन के विषय में हुई बैठक में हुई चर्चा के बाद दो हफ्ते पहले ही यह निर्णय लिया गया था कि 50% दर्शक क्षमता के साथ गेम्स का आयोजन किया जा सकता है और यह संख्या 10,000 से अधिक न हो। हालाँकि, आपातकाल की घोषणा के बाद यह गुंजाइश भी खत्म हो चुकी है।

ज्ञात हो कि गुरुवार (08 जुलाई 2021) को टोक्यो में कोरोना वायरस संक्रमण के 896 नए मामले सामने आए। बुधवार को भी संक्रमण के 920 मामले सामने आए थे। इसके साथ ही अब जापान में संक्रमितों की कुल संख्या 8,11,000 हो चुकी है और संक्रमण के चलते 14,800 मौतें भी हो चुकी हैं। यह अनुमान लगाया जा रहा है कि टोक्यो में जुलाई के अंत तक रोजाना मिलने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 1,000 और अगस्त तक 2,000 हो सकती है। सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि जापान में टीकाकरण की रफ्तार भी धीमी है।

Updated: October 1, 2021 — 8:23 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *