पुलवामा में सुरक्षा बलों ने ढेर किए 3 लश्कर आतंकी, फायरिंग के बाद पाकिस्तानी ड्रोन गायब; कुलगाम में IED निष्क्रिय

जम्मू-कश्मीर में फिर से पाकिस्तानी ड्रोन देखे जाने की खबर है। बीएसएफ की फायरिंग के बाद ड्रोन गायब हो गया। वहीं पुलवामा में सुरक्षा बलों ने लश्कर के तीन आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया। इसी तरह कुलगाम में आतंकियों द्वारा लगाई गई आईईडी को सुरक्षा बलों ने निष्क्रिय कर दिया है।

पुलवामा में ढेर किए गए आतंकियों में लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर अबु हुरैरा उर्फ एजाज भी शामिल है। वह A++ केटेगरी का आतंकी था। लिहाजा उसका मारा जाना सुरक्षा बलों के लिए बड़ी सफलता मानी जा रही है। लश्कर आतंकियों के इलाके में छिपे होने की सूचना मिलने पर सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों ने संयुक्त रूप से सर्च ऑपरेशन चलाया था। खुद को फँसा देख आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी।

इसके बाद सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में तीनों आतंकी ढेर हो गए। अबु हुरैरा के अलावा बाकी दो आतंकी स्थानीय थे। इनके पास से हथियारों की भी बरामदगी हुई है। फिलहाल इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है। कश्मीर जोन पुलिस के मुताबिक, तलाशी अभियान जारी है।

इससे पहले मंगलवार (13 जुलाई 2021) की रात करीब 10 बजे जम्मू में अरनिया सेक्टर से लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास संदिग्ध ड्रोन स्पॉट किया गया। ड्रोन दिखने के बाद बीएसएफ के जवानों ने उस पर 5-6 राउंड फायरिंग की, जिसके बाद वो फिर से पाकिस्तान की सीमा के अंदर अँधेरे में गायब हो गया।

घटना को लेकर बीएसएफ ने बयान जारी कर कहा है कि 13-14 जुलाई की दरम्यानी रात अरनिया सेक्टर में बीएसएफ जवानों ने लगभग 9 बजकर 52 मिनट पर 200 मीटर की दूरी पर एक टिमटिमाती लाल लाइट देखी थी। इसके बाद जवानों ने फायिरंग शुरू कर दी, जिस कारण वो वापस लौट गया।

गौरतलब है कि इससे पहले जम्मू के एयरपोर्ट में रविवार (27 जून 2021) को ड्रोन के जरिए दो बड़े धमाके किए गए थे। देर रात करीब 2 बजे हुए इस धमाके से एक इमारत की छत को नुकसान पहुँचा था। तब से अब तक करीब 6 बार जम्मू-कश्मीर में ड्रोन देखे गए हैं।

एक अन्य घटना में जम्मू-कश्मीर के कुलगाम सेक्टर में सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए आतंकियों ने आईईडी प्लांट की थी। पुलिस के प्रवक्ता के मुताबिक, घटना काजीगुंड इलाके के दामेजन गाँव के बाहर की है। यहाँ एक चिनार के पेड़ के नीचे आतंकियों ने आईईडी लगाया था, जिसे निष्क्रिय कर दिया गया।

Updated: October 1, 2021 — 9:43 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *