प्रदेश का सबसे स्वच्छ शहर होगा अयोध्या, 20 हजार परिवारों को मिलेगा सीवर कनेक्शन

– प्रदेश का सबसे स्वच्छ शहर होगा अयोध्या
-243 करोड़ की लागत से बिछेगी सीवर लाइन
-20 हजार परिवारों को मिलेगा सीवर कनेक्शन

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

अयोध्या. राम की नगरी अयोध्या को प्रदेश का सबसे स्वच्छ शहर बनाने की कवायद शुरू हो चुकी है। अयोध्या को अंतरराष्ट्रीय स्तर का धार्मिक और आध्यात्मिक पर्यटन स्थल बनाने की दिशा में काम शुरू हो चुका है। इसके तहत प्रदेश सरकार ने रामनगरी अयोध्या में करीब 20 हजार परिवारों को सीवर कनेक्शन देने का फैसला किया है। शहर में 243 करोड़ 84 लाख रुपये की लागत से सीवर लाइन बिछाने की परियोजना पर काम किया जाएगा जिसे कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। ‘अटल नवीकरण और शहरी रूपांतरण मिशन’ के अंतर्गत 20 हजार परिवारों को सीवर कनेक्शन दिया जाएगा। इसमें कुल लागत में 24.28 करोड़ रुपये सेंटेज, और 1.94 करोड़ रुपये लेबर सेस को शामिल किया है। निर्धारित लागत में केंद्र सरकार द्वारा 109.77 करोड़, राज्य सरकार द्वारा 85.29 करोड़ और निकायों द्वारा 48.76 करोड़ रुपये दिया जाएगा।

नव्य अयोध्या के लिए भूमि रजिस्ट्री

अयोध्या को नए रूप में विकसित करने के लिए आवास विकास परिषद ने 1193 करोड़ एकड़ में बसने वाली आवासीय योजना के लिए आठ किसानों की नौ एकड़ भूमि खरीद ली है। इन आठ किसानों को जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व अपर आयुक्त आवास विकास परिषद नीरज शुक्ला की तरफ से भूमि के लिए 17.26 करोड़ रुपये का चेक दिया गया है। दरअसल, हाट बाजार योजना के तहत अयोध्या के मांझा बरेहटा, मांझा तिहुरा, मांझा साहनवाजपुर के 1193 एकड़ के लिए पांच हजार किसानों की भूमि का अधिग्रहण किया जाना है। मांझा बरेहटा व मांझा शाहनवाजपुर के अधिकांश किसान अपनी भूमि देने को तैयार हैं। आवास विकास परिषद ने मांझा शाहनवाजपुर की भूमि को पहले अधिग्रहीत किए जाने का निर्णय लिया है। इसमें सहमति के आधार पर किसानों से भूमि चार गुना मुआवजे पर खरीदी जा रही है। मांझा शाहनवाजपुर के 477 गाटों में 305 गाटों के किसान अपनी भूमि दिए जाने की सहमति जता चुके हैं।

ये भी पढ़ें: पर्यटकों को मिलेगी नई सुविधा, योगी सरकार करेगी पांच धार्मिक स्थलों का कायाकल्प

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर : अयोध्या में 25 व 26 मार्च को होगी संघ की बैठक







Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *