प्रशिक्षण के लिए 54 किसान झांसी हुए रवाना

हरी झंडी दिखाते कृषि अधिकारी व अन्य

हरी झंडी दिखाते कृषि अधिकारी व अन्य
– फोटो : ORAI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

उरई। पशुधन कृषि विज्ञान केंद्र एवं उद्यान के तत्वावधान में जिले के किसानों को दो दिवसीय प्रशिक्षण के लिए जिले के 54 महिला-पुरुष किसानों को झांसी के लिए रवाना किया गया। विकास भवन परिसर से सहकार भारतीय के महामंत्री डा. प्रवीण सिंह जादौन ने बस को हरी झंडी दिखाकर जिले से रवाना किया। उन्होंने बताया कि दो दिन तक किसान झांसी स्थित प्रशिक्षण केंद्र बरुआ सागर रह कर कृषि विशेषज्ञों से तकनीकी खेती व बागवानी के विषय में जानकारी प्राप्त करेंगे।
उन्होंने बताया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम कृषि विभाग की आत्मा योजना अंतर्गत दिया जा रहा है। सरकार की मंशा है कि इस भ्रमण के माध्यम से किसानों को न केवल उन्नति कृषि का अवलोकन कराया जाए, बल्कि तकनीकी जानकारी हासिल कर वे खेतों में उन्नत फसल उगाएं। उन्होंने बताया कि यह शैक्षणिक भ्रमण दल आशा संस्थान द्वारा गठित किया गया है, जिसमें जनपद के सभी विकास खंडों के अंतर्गत चयनित 54 किसानों को शामिल किया गया है। उप कृषि निदेशक आरके तिवारी ने कहा कि प्रशिक्षण को लेकर किसान उत्साहित है।
इस प्रशिक्षण से किसानों को खेती, पशुपालन व बागवानी के विषय में जानकारी दी जाएगी, कि वह किस तरह अपनी लागत को कम कर उपज बढ़ा सकते है। इस अवसर पर उप कृषि निदेशक आर के तिवारी, जिला कृषि अधिकारी अमर सिंह, आशा संस्थान के प्रमुख राजेंद्र सिंह, सहकार भारती के जिला अध्यक्ष उपेंद्र सिंह राजावत, जितेंद्र पांडे, नीता दुबे, मीना सिंह, ज्योति साहू, अंगूरी देवी, चंद्र भान सिंह, विक्रम कुशवाहा आदि किसान मौजूद रहे।

उरई। पशुधन कृषि विज्ञान केंद्र एवं उद्यान के तत्वावधान में जिले के किसानों को दो दिवसीय प्रशिक्षण के लिए जिले के 54 महिला-पुरुष किसानों को झांसी के लिए रवाना किया गया। विकास भवन परिसर से सहकार भारतीय के महामंत्री डा. प्रवीण सिंह जादौन ने बस को हरी झंडी दिखाकर जिले से रवाना किया। उन्होंने बताया कि दो दिन तक किसान झांसी स्थित प्रशिक्षण केंद्र बरुआ सागर रह कर कृषि विशेषज्ञों से तकनीकी खेती व बागवानी के विषय में जानकारी प्राप्त करेंगे।

उन्होंने बताया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम कृषि विभाग की आत्मा योजना अंतर्गत दिया जा रहा है। सरकार की मंशा है कि इस भ्रमण के माध्यम से किसानों को न केवल उन्नति कृषि का अवलोकन कराया जाए, बल्कि तकनीकी जानकारी हासिल कर वे खेतों में उन्नत फसल उगाएं। उन्होंने बताया कि यह शैक्षणिक भ्रमण दल आशा संस्थान द्वारा गठित किया गया है, जिसमें जनपद के सभी विकास खंडों के अंतर्गत चयनित 54 किसानों को शामिल किया गया है। उप कृषि निदेशक आरके तिवारी ने कहा कि प्रशिक्षण को लेकर किसान उत्साहित है।

इस प्रशिक्षण से किसानों को खेती, पशुपालन व बागवानी के विषय में जानकारी दी जाएगी, कि वह किस तरह अपनी लागत को कम कर उपज बढ़ा सकते है। इस अवसर पर उप कृषि निदेशक आर के तिवारी, जिला कृषि अधिकारी अमर सिंह, आशा संस्थान के प्रमुख राजेंद्र सिंह, सहकार भारती के जिला अध्यक्ष उपेंद्र सिंह राजावत, जितेंद्र पांडे, नीता दुबे, मीना सिंह, ज्योति साहू, अंगूरी देवी, चंद्र भान सिंह, विक्रम कुशवाहा आदि किसान मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *