फाँदी चीन की दीवार: एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बने गौतम अडानी, 1 साल में ₹2.38 लाख करोड़ बढ़ गई संपत्ति

‘अडानी ग्रुप’ के संस्थापक एवं अध्यक्ष गौतम अडानी अब एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। भारत के लिए गर्व की बात है कि एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी भी यहीं के हैं। एशिया के दोनों सबसे अमीर व्यक्ति अब भारत के ही हैं। गौतम अडानी ने चीन के सबसे अमीर व्यक्ति झोंग शंशन को पीछे छोड़ा। झोंग शंशन फरवरी 2021 तक एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति हुआ करते थे, लेकिन मुकेश अंबानी ने उन्हें पीछे छोड़ दिया था।

स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड गौतम अडानी की कंपनियों के शेयर के दाम भी आगे बढ़ रहे हैं। गौर करने वाली बात ये है कि पिछले साल जहाँ मुकेश अंबानी की संपत्ति 175.5 मिलियन डॉलर (1280.94 करोड़ रुपए) घट गई, वहीं गौतम अडानी की संपत्ति में 32.7 बिलियन डॉलर (2.38 लाख करोड़ रुपए) की वृद्धि हुई, जिसके बाद उनकी संपत्ति 63.6 बिलियन डॉलर (4.64 लाख करोड़ रुपए) हो गई है।

पिछले साल गौतम अडानी की संपत्ति में जितनी वृद्धि हुई, उतनी विश्व के सबसे अमीर उद्योगपति एलोन मस्क या किसी भी अन्य अरबपति कारोबारी की संपत्ति में नहीं हुई। मुकेश अंबानी की संपत्ति फ़िलहाल 76.5 बिलियन डॉलर (5.58 लाख करोड़ रुपए) है और वो विश्व के 13वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं। उनके बाद आने वाले गौतम अडानी का इस मामले में विश्व में 14वाँ स्थान है। एशिया के 10 शीर्ष अमीरों की सूची में अंबानी-अडानी के अलावा सभी चीनी कारोबारी हैं।

एशिया के दूसरे सबसे अमीर कारोबारी बने गौतम अडानी

जहाँ तक झोंग का सवाल है, नोंग्फू स्प्रिंग मिनरल वॉटर और वनटाई बायोलॉजिकल फार्मा इंटरप्राइस को चलाने वाले इस चीन के सबसे अमीर व्यक्ति के पास 63.6 बिलियन डॉलर (4.64 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति है। कोरोना महामारी के बीच उनकी फार्मा कंपनी ने अच्छी खासी कमाई की है। इधर ‘अडानी टोटल गैस’ के शेयर्स पिछले साल 12 गुना ज्यादा तक बढ़े। अडानी इंटरप्राइजेज के शेयर्स 8 गुना ज्यादा बढ़े।

वहीं ‘अडानी ट्रान्समिशन्स’ के शेयर 6 गुना ज्यादा बढ़ गए। ‘अडानी ग्रीन एनर्जी’ और अडानी पॉवर – इन दोनों कंपनियों के शेयर्स में भी इस अवधि में क्रमशः 4 गुना और 3 गुना इजाफा देखने को मिला। वहीं ‘अडानी पोर्ट्स’ के शेयरों के दाम भी दोगुने हो गए। कभी घरेलू चीजें और अनाज का कारोबार करने वाले गौतम अडानी आज पोर्ट्स, एयरपोर्ट्स, एनर्जी, रिसोर्सेज, लोजिस्टिक्स, कृषि व्यापार, रियल एस्टेट, वित्तीय सेवाएँ, गैस और रक्षा सम्बन्धी कंपनियों के मालिक हैं।

जहाँ राहुल गाँधी सहित कॉन्ग्रेस के सभी नेता मुकेश अंबानी और गौतम अडानी पर निशाना साधने में लगे रहते हैं, वहीं इन दोनों की कंपनियों ने कोरोना महामारी के बीच भी जनता की मदद के लिए काफी कुछ किया है। हाल ही में अडानी समूह ने ऐलान किया कि शहर में स्थित अडानी विद्या मंडिर स्कूल कैंपस को कोविड पॉजिटिव मरीजों के लिए सुविधा केंद्र में बदला जाएगा। इसके पहले अडानी ग्रुप ने नोएडा में कोरोना मरीजों की मदद करते हुए 300 डी-टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर देने की घोषणा की थी।

Updated: November 26, 2021 — 12:47 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *