बकाया माँगने पर कॉन्ग्रेस नेता ने व्यवसायी को पीटा: पार्टी की दिखाई धौंस, कहा- दुकान नहीं खुलने दूँगा

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में एक कॉन्ग्रेस नेता द्वारा मारपीट का मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उधारी की रकम माँगने पर कॉन्ग्रेस नेता हरमेंद्र शुक्ला अपने बेटों के साथ मिलकर व्यवसायी और उसके ​बेटे को पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ ही कॉन्ग्रेस नेता ने दुकान में तोड़-फोड़ कर जान से मारने की धमकी भी दी।

घटना से आहत व्यवसायी संजय कुमार गुप्ता और उनके बेटे ने सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पीड़ित व्यवसायी हर्षित गुप्ता (संजय कुमार गुप्ता) ने ऑपइंडिया को बताया, “शहर कॉन्ग्रेस कमेटी के सचिव व झुुग्गी-झोपड़ी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष और ठेकेदार हरमेंद्र शुक्ला ने उधारी की रकम माँगने पर हमारे साथ मारपीट की। उनका हमारे साथ व्यापारिक लेन-देन है। उन्होंने दो साल पहले हमारी दुकान से 7,22,000 रुपए का सामान लिया था। इस समान की मेरे पास पक्की रसीद है, जिस पर कॉन्ग्रेस नेता के हस्ताक्षर भी हैं। इसको लेकर मैं उन्हें दो बार नोटिस भी भेज चुका हूँ कि मुझे मेरे पैसे वापस कर दिए जाएँ।”

हर्षित ने आगे बताया,​ “मैंने 28 जून को हरमेंद्र शुक्ला को दूसरा नोटिस भेजा था, जिसमें लिखा था आप हमें 15 दिनों के अंदर भुगतान कर दें, वरना हम आपके ऊपर कानूनी कार्रवाई करेंगे। उधारी की रकम माँगने पर कॉन्ग्रेस नेता हरमेंद्र शुक्ला आगबबूला हो गए। जब मेरे पिता संजय कुमार गुप्ता पीडब्ल्यूडी ऑफिस बिलासपुर किसी काम से गए, तब वह वहाँ मेरे पिता से मिले और उनसे गाली-गलौच करने लगे। उनको ऑफिस में घुसने नहीं दिया। उन्होंने मेरे पिता को जान से मारने की धमकी दी और कहा कि मैं तुम्हें एक भी पैसा नहीं दूँगा, तुम्हें जो करना है करो। मैं कॉन्ग्रेस पार्टी से हूँ। तुम्हारी दुकान नहीं खुलने दूँगा।”

व्यवसायी ने बताया कि इसके बाद कॉन्ग्रेस नेता मारपीट पर उतारू हो गए। हरमेंद्र अपने बेटों, अमन शुक्ला और अभिषेक शुक्ला के साथ मिलकर उनके पिता को पीटा। वहाँ मौजूद कुछ लोगों ने हर्षित को इसकी सूचना दी। जब वह बीच-बचाव करने वहाँ पहुँचे तो उन्हें भी पीटा गया।

वहीं, दूसरे पक्ष ने भी मारपीट की शिकायत की है। कॉन्ग्रेस नेता हरमेंद्र शुक्ला ने मीडिया से कहा कि उनके ऊपर मारपीट के आरोप बेबुनियाद और मनगढ़ंत हैं। पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जाँच में जुट गई है।

नई दुनिया में प्रकाशित खबर

आपको बता दें कि शहर में कॉन्ग्रेस नेताओं की बदसलूकी का यह कोई पहला मामला नहीं है। बीते दिनों रेलवे क्षेत्र के कॉन्ग्रेस नेता मोतीलाल थारवानी ने आरक्षक के साथ बदसलूकी की थी। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने कॉन्ग्रेस नेता के खिलाफ केस दर्ज किया था। मामला प्रकाश में आने के बाद से फरार चल रहे कॉन्ग्रेस नेता को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

इसके अलावा, सीएम के कार्यक्रम में विधायक शैलेश पांडे के साथ ब्लॉक अध्यक्ष तैयब हुसैन द्वारा की गई हाथापाई का मामला भी खासा सुर्खियों में रहा था। इसको लेकर कॉन्ग्रेस की तरफ से जाँच समिति भी गठित की गई थी। समिति ने अपनी रिपोर्ट में तैयब हुसैन को दोषी माना था और पार्टी ने तैयब को पद से हटा दिया था।

Updated: January 1, 2022 — 7:01 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *