मड आइलैंड का बंगला, ₹20000 रोज का किराया: छापा पड़ा तो 2 नंगे हो कर रहे थे शूटिंग, 5 महीने बाद कुंद्रा गिरफ्तार

अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद से कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। रिपोर्टों के अनुसार मुंबई पुलिस ने महीनों की लंबी पड़ताल और कड़ियों को जोड़ने के बाद उनकी गिरफ्तारी की है। इसकी शुरुआत करीब 5 महीने पहले मड आइलैंड के एक बंगले से हुई थी।

इस बंगले पर 4 फरवरी 2021 को पुलिस ने एक गुप्त सूचना के आधार पर छापा मारा था। इस दौरान दो व्यक्ति नंगे होकर पोर्न फिल्म की शूटिंग करते मिले। पुलिस ने 5 लोगों को उस समय गिरफ्तार कर एक महिला का वहाँ से रेस्क्यू कराया था। यास्मीन रोवा खान, प्रतिभा नलवाडे, मोनू गोपालदास जोशी, भानुसूर्यम ठाकुर और मोहम्मद आसिफ उर्फ सैफी के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था।

रिपोर्ट के अनुसार मड आइलैंड के जिस बंगले पर छापा मारा गया था उसे 20 हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से किराए पर लिया गया था। बंगला मालिक ने पुलिस को बताया था कि भोजपुरी और मराठी फिल्मों की शूटिंग के नाम पर किराए पर लिया गया था। महीनों की जाँच के बाद इसमें कुंद्रा की भूमिका का खुलासा हुआ। यह बात सामने आई की फिल्म निर्माण के लिए बने एक प्रोडक्शन हाउस की आड़ में पोर्न फिल्म रैकेट चलाया जा रहा है।

उस घटना के करीब पाँच महीने राज कुंद्रा को 19 जुलाई को गिरफ्तार किया गया। कुंद्रा को मंगलवार (20 जुलाई 2021) को अदालत में पेश किया गया, जहाँ से उन्हें 23 जुलाई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

‘अंतिम समय पर बोलते थे स्क्रिप्ट में चेंज है’

पुलिस ने कहा कि मड आइलैंड बंगले से गिरफ्तार किए गए पाँचों लोगों ने बताया है कि महाराष्ट्र के बीड या झारखंड जैसे राज्यों से महत्वाकांक्षा लेकर मुंबई आने वाली अभिनेत्रियों को वेब सीरीज में रोल देने का वादा किया जाता था। इसके बाद अंतिम समय में आरोपित लड़कियों को बताते थे कि स्क्रिप्ट में बदलाव किया गया है। उन्हें कथित तौर पर नग्न होकर फिल्म शूट करने के लिए कहा जाता था।

पुलिस ने दावा किया कि ऐसी परिस्थिति में अगर अभिनेत्री इससे इनकार करती थी तो उससे शूटिंग का बिल भरवाने की धमकी दी जाती थी। इसी कारण दवाब में आकर ज्यादातर इसके लिए तैयार हो जाती थीं। शूटिंग होने के बाद आरोपित उसे कथित तौर पर हॉट हिट मूवीज और हॉटशॉट्स जैसे मोबाइल एप्लिकेशन पर डाल देते थे। इतना ही नहीं आरोपितों ने मेन स्ट्रीम ओटीटी प्लेटफॉर्म की तर्ज पर मेंबरशिप भी रखी औऱ इसके लिए सोशल मीडिया पर विज्ञापन भी डाले।

पुलिस के मुताबिक, जून 2020 में ही हॉटशॉट्स ऐप को ऐप्पल स्टोर और नवंबर 2020 में Google के प्ले स्टोर से हटा दिया गया था। क्राइम ब्रांच ने कहा है कि इस केस की जाँच के दौरान पता चला है कि एडल्ट फिल्मों की शूटिंग आम तौर पर एक दिन के भीतर मुंबई के बाहरी इलाके में मड आईलैंड जैसी जगहों पर किराए के बंगले में की जाती है। वहाँ पाँच से छह लोगों का न्यूनतम स्टाफ होता है। पुलिस का दावा है कि लॉकडाउन के दौरान इस तरह के ऐप काफी मशहूर हुए हैं।

Updated: July 21, 2021 — 3:39 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *