मतदाता दिवस पर मिलेगा डिजिटल कार्ड का तोहफा, देश मनाएगा 80 करोड़ मतदाताओं के मताधिकार का जश्न

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली
Updated Sun, 24 Jan 2021 04:56 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की नुमाइंदगी करने वाला चुनाव आयोग मतदाताओं को शानदार तोहफा देने की तैयारी में है। देश के मतदाताओं को 25 जनवरी को मतदाता दिवस के मौके पर इलेक्ट्रॉनिक इलेक्टर्स फोटो आईडेंटिटी एप (ई-इपिक) का उपहार मिलेगा। इसकी मदद से मतदाता पहचान पत्र को डिजिटल रूप में रखा जा सकेगा।

ई-इपिक में एक तय प्रक्रिया और कुछ नियमों का पालन करना होगा। इसके बाद आधार की तरह ही मतदान पहचान पत्र भी डाउनलोड होकर ई-वॉलेट का हिस्सा बन जाएगा। डिजिटल कार्ड के लिए मतदाता को अपनी पूरी जानकारी का सत्यापन कराना होगा। बैंक की केवाईसी की तरह मोबाइल नंबर के साथ ई-मेल की अनिवार्यता होगी।

मोबाइल नंबर चुनाव आयोग की मतदाता सूची में दर्ज होते ही एप के माध्यम से आवेदन करने पर मेल और एक संदेश फोन पर प्राप्त होगा। इसमें एक बार इस्तेमाल होने वाला ओटीपी होगा जो कि आपका पासवर्ड होगा। इसका प्रयोग करके कार्ड प्राप्त किया जा सकेगा।

इसमें दो क्यूआर कोड होंगे, एक में मतदाता की संपूर्ण जानकारी और दूसरे में उसके इलाके में होने वाले चुनाव और उससे जुड़ी जानकारियां होंगी। आयोग हार्ड कापी का विकल्प भी जारी रखेगा और इसके लिए 25 रुपये का शुल्क लगेगा। डिजिटल व्यवस्था से कार्ड खोने और नए कार्ड प्राप्त करने के झंझट से मुक्ति मिलेगी, साथ ही आयोग को भी कार्ड की डिलीवरी से राहत मिलेगी।

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की नुमाइंदगी करने वाला चुनाव आयोग मतदाताओं को शानदार तोहफा देने की तैयारी में है। देश के मतदाताओं को 25 जनवरी को मतदाता दिवस के मौके पर इलेक्ट्रॉनिक इलेक्टर्स फोटो आईडेंटिटी एप (ई-इपिक) का उपहार मिलेगा। इसकी मदद से मतदाता पहचान पत्र को डिजिटल रूप में रखा जा सकेगा।

ई-इपिक में एक तय प्रक्रिया और कुछ नियमों का पालन करना होगा। इसके बाद आधार की तरह ही मतदान पहचान पत्र भी डाउनलोड होकर ई-वॉलेट का हिस्सा बन जाएगा। डिजिटल कार्ड के लिए मतदाता को अपनी पूरी जानकारी का सत्यापन कराना होगा। बैंक की केवाईसी की तरह मोबाइल नंबर के साथ ई-मेल की अनिवार्यता होगी।

मोबाइल नंबर चुनाव आयोग की मतदाता सूची में दर्ज होते ही एप के माध्यम से आवेदन करने पर मेल और एक संदेश फोन पर प्राप्त होगा। इसमें एक बार इस्तेमाल होने वाला ओटीपी होगा जो कि आपका पासवर्ड होगा। इसका प्रयोग करके कार्ड प्राप्त किया जा सकेगा।

इसमें दो क्यूआर कोड होंगे, एक में मतदाता की संपूर्ण जानकारी और दूसरे में उसके इलाके में होने वाले चुनाव और उससे जुड़ी जानकारियां होंगी। आयोग हार्ड कापी का विकल्प भी जारी रखेगा और इसके लिए 25 रुपये का शुल्क लगेगा। डिजिटल व्यवस्था से कार्ड खोने और नए कार्ड प्राप्त करने के झंझट से मुक्ति मिलेगी, साथ ही आयोग को भी कार्ड की डिलीवरी से राहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *