‘ममता बनर्जी’ की शादी ‘सोशलिज्म’ से: लड़की का नाम रखेंगे क्यूबिज़्म, ‘कम्युनिज्म’, ‘लेनिनिज्म’ परिवार में पहले से

तमिलनाडु के सलेम जिले में एक शादी का कार्ड मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसके मुताबिक पी ममता बनर्जी नाम की दुल्हन 13 जून 2021 को एएम सोशलिज्म (AM Sociallism) नाम के दूल्हे से शादी करेंगी। दूल्हे और दुल्हन के नाम ने सोशल मीडिया पर नेटिज़न्स को हैरान कर रखा है। लोग इस बात पर चर्चा कर रहे हैं कि ये शादी का निमंत्रण असली है या एडिटेड।

हालाँकि, दूल्हा और दुल्हन दोनों परिवार के सदस्यों ने ये कन्फर्म किया है कि शादी का निमंत्रण असली ही है और एएम सोशलिज्म, लेनिन मोहन उर्फ ए मोहन के बेटा हैं, जो सलेम में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के सचिव हैं।

कार्ड में दूल्हे के बड़े भाइयों के नाम भी हैं। इसमें से एक एएम कम्युनिज्म (AM Communism) और दूसरा एएम लेनिनिज्म (AM Lelinism) है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, परिवार में इस तरह के नामकरण की असाधारण परंपरा को लेकर ए मोहन ने कहा, “सोवियत संघ के विघटन के बाद, लोगों को लगा कि कम्युनिज्म का दौर समाप्त हो गया है और अब यह विचारधारा दुनिया में दोबारा समृद्ध नहीं होगी। दूरदर्शन पर भी इससे जुड़ी एक क्लिप थी। उसी दौरान मेरी पत्नी ने मेरे बड़े बेटे को जन्म दिया। मैंने तुरंत उसे ‘कम्युनिज्म’ का नाम देने का फैसला किया। क्योंकि मेरा मानना था कि जब तक मानव है, तब तक ‘कम्युनिज्म’ का अंत नहीं होगा।”

मोहन ने कहा कि कट्टूर गाँव में ज्यादातर लोग कम्युनिज्म की विचारधारा को मानते हैं। उन्होंने कहा कि उनके गाँव में रूस, मॉस्को, चेकोस्लोवाकिया, रोमानिया, वियतनाम, वेनमनी आदि क्षेत्रों के नाम पर लोग सामान्य रूप से मिल जाएँगे।

लड़की पैदा हुई तो ‘क्यूबिज्म’ रखेंगे नाम

दूल्हे एएम सोशलिज्म के पिता ने कहा, “लोग अपने बच्चों का नाम नेता, देश या विचारधारा के नाम पर ही रखते हैं। मैं अपने बच्चों का नाम भी विचारधाराओं के नाम पर ही रखना चाहता था। मेरे तीनों बेटों का नाम एक समान है। दुल्हन भी हमारी रिश्तेदार है। उनके दादा एक कॉन्ग्रेसी हैं, जो ममता बनर्जी से बहुत ही अधिक प्रभावित थे। इसलिए उन्होंने अपनी पोती का नाम ममता बनर्जी के नाम पर रखा। हम सभी चाहते हैं कि हमारी आने वाली पीढ़ियाँ हमारी विचारधारा को आगे बढ़ाएँ। मैंने अपने पोते का नाम मार्कसिज्म रखा है। भविष्य में, अगर हमारे परिवार में एक लड़की का जन्म होता है , मैं उसका नाम क्यूबिज़्म रखूँगा।”

रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना के चलते परिवार बहुत ज्यादा लोगों को शादी में आमंत्रित नहीं कर सकता है। इसीलिए शादी के कार्ड को सोमवार (7 जून 2021) को सीपीआई के तमिल मुखपत्र ‘जन शक्ति’ में प्रकाशित किया गया।

सीपीआई नेता मोहन ने कहा कि दूल्हा-दुल्हन के नाम को लेकर उत्सुक लोगों के 300 से ज्यादा फोन आ चुके हैं।

उन्होंने कहा कि उनके बेटे इस बात से बहुत खुश हैं, क्योंकि हर कोई इस तरह का नाम रखने को लेकर उनकी तारीफ कर रहा है। हालाँकि जब वे छोटे थे और सरकारी स्कूल में पढ़ते थे तो इस नाम के कारण उन्हें काफी अपमान झेलना पड़ा था। लोग उनके नामों का गलत अर्थ निकालते थे और यह तब तक उन्हें झेलना पड़ा, जब तक कि उन्होंने स्कूली शिक्षा खत्म नहीं कर ली। हालाँकि, कॉलेज में पहुँचने के बाद हालात सामान्य हो गए। मोहन ने कहा कि उनके बड़े बेटे ने चेन्नई कॉलेज से लॉ की पढ़ाई की है, जबकि दो अन्य ने बी कॉम किया है।

Leave a Comment