‘योगी ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले… उनके तेज से नष्ट हो जाओगे’: ओवैसी पर जमकर बरसे रवि किशन

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बयानबाजी तेज हो गई है। योगी आदित्यनाथ को सत्ता से बाहर करने वाले बयान को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुसलमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर गोरखपुर के बीजेपी सांसद और अभिनेता रवि किशन ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरोधी उनके तेज से ही नष्ट हो जाएँगे।

अभिनेता से सांसद बने रवि किशन ने कहा, “योगी आदित्यनाथ ब्रह्मचर्य का पालन करने वाले हैं। वे ढाई घंटे आरती करने वाले संन्यासी हैं। छू के दिखाओ महाराज जी को, उनके तेज से नष्ट हो जाओगे।” उन्होंने कहा, “सुन लो ओवैसी साहब, 24 करोड़ की जनता, भारतीय जनता पार्टी का संगठन, हिंदू युवा वाहिनी का संगठन, आपका ये चैलेंज स्वीकारता है। आप महाराज जी को हराएँगे क्या, छूकर तो दिखाओ। पैदल हैदराबाद जाओगे।” ओवैसी ने पिछले दिनों कहा था कि 2022 में योगी आदित्यनाथ को यूपी में सीएम नहीं बनने देंगे।

इसके जवाब में ओवैसी को देश का बड़ा नेता बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था, “इसमें कोई संदेह नहीं है कि भाजपा 2022 में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी। केंद्रीय नेतृत्व ने 300 प्लस का लक्ष्य दिया है, जिसके कार्यकर्ता अपनी मेहनत और लगन से हासिल करेंगे।”

मालूम हो कि हैदराबाद से सांसद ओवैसी की पार्टी ने ओमप्रकाश राजभर और बाबू सिंह कुशवाहा की भागीदारी संकल्‍प मोर्चा के तहत चुनाव लड़ने की घोषणा की है। एआईएमआईएम के यूपी अध्‍यक्ष शौकत अली ने कहा है कि पार्टी 100 मुस्लिम बाहुल्य सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी

हाल ही में AIMIM नेता असीम वकार ने कहा था कि सभी राज्यों में उपमुख्यमंत्री का पद पूरी तरह से मुस्लिमों के लिए आरक्षित होना चाहिए। उन्होंने सपा, बसपा और कॉन्ग्रेस से इस मुद्दे पर अपने विचार स्पष्ट करने को भी कहा था। एआईएमआईएम नेता ने कहा था कि पार्टियाँ मुसलमानों से वोट तो माँगती है, लेकिन जब उसके बदले डिप्टी सीएम पद की माँग की जाती है तो उन्हें समस्या होने लगती है।

वकार का यह बयान राजभर द्वारा पावर-शेयरिंग फॉर्मूले के बाद आया था। राजभर ने कहा था कि 2022 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में संकल्प मोर्चा गठबंधन की जीत होने पर हर साल अलग-अलग समुदाय से मुख्यमंत्री (CM) होगा। इससे गठबंधन के सभी भागीदारों के लिए समान प्रतिनिधित्व सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा था, “अगर हम 2022 में सरकार बनाते हैं, तो हम स्पष्ट हैं कि पाँच साल में पाँच मुख्यमंत्री होंगे। एक मुस्लिम, एक राजभर, एक चौहान, एक कुशवाहा और एक पटेल होगा। हमारे पास एक साल में चार डिप्टी सीएम और पाँच साल में 20 होंगे।”

Updated: September 30, 2021 — 11:09 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *