राजीव गांधी न्याय योजना: राहुल गांधी की वर्चुअल मौजूदगी में किसानों को चौथी किस्त आज

– किसानों को आज मिलेगी राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किस्त
– पशुपालकों के खाते में आएगी गोधन न्याय योजना की 15वीं और 16वीं किस्त

रायपुर. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की वर्चुअल उपस्थिति में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) रविवार को राजीव गांधी किसान न्याय योजना (Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana) की चौथी किस्त और पशुपालकों को गोबर खरीदी राशि का अंतरण खाते में करेंगे।

मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित इस कार्यक्रम में मंत्रिमंडल के सभी सदस्य उपस्थित रहेंगे। मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ के 18 लाख 43 हजार किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किस्त के रूप में 1104 करोड़ 27 लाख रुपए और गोधन न्याय योजना की 15वीं और 16वीं किस्त के रूप में कुल 7 करोड़ 55 लाख रुपए पशुपालकों के खाते में डालेंगे।

यह भी पढ़ें: इस योजना से किसानों को होगा गजब का लाभ, खाते में आएंगे 1104.27 करोड़ रूपए

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों को तीन किश्तों में 4500 करोड़ रूपए का भुगतान किया जा चुका है। इसी प्रकार प्रमाणित बीज उत्पादक 4777 किसानों को तीन किश्तों में 23 करोड़ 62 लाख रूपए तथा गन्ना उत्पादक 34 हजार 292 किसानों को अतिरिक्त प्रोत्साहन और आदान सहायता के रूप में 74 करोड़ 24 लाख रूपए का भुगतान किया जा चुका है।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में अब तक किसानों को 4597 करोड़ 86 लाख रूपए का भुगतान किया जा चुका है। मुख्यमंत्री श्री बघेल 21 मार्च के इस कार्यक्रम में गोधन न्याय योजना की 15वीं किश्त के रूप में 3 करोड़ 75 लाख रूपए और 16वीं किश्त के रूप में 3 करोड़ 80 लाख रूपए का अंतरण पशुपालकों के खाते में करेंगे। गोधन न्याय योजना में अब तक पशुपालकों को 80 करोड़ 42 लाख रूपए का भुगतान किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें: 334 पदों पर यहां हो रही भर्ती, बिना परीक्षा मिलेगी नौकरी, 12वीं से लेकर ग्रेजुएट पास करें आवेदन

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि 21 मई 2020 से प्रदेश के प्रमुख फसलों के उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि करने के उद्देश्य से किसानों को कृषि आदान सहायता राशि प्रदाय करने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना लागू की गई है। योजना अंतर्गत खरीफ मौसम में धान के साथ-साथ 13 अन्य फसलों मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, तिल, अरहर, मूंग, उड़द, कुल्थी, रामतिल, कोदो, कुटकी, रागी तथा रबी में गन्ना फसल को शामिल किया गया है।









Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *