सिंघु बॉर्डर पर किसानों के साथ स्थानीय लोगों की झड़प, पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे

डिजिटल डेस्क ( भोपाल)। दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को दिल्ली-हरियाणा की सिंघु सीमा पर सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। दरअसल स्थानीय लोग इलाके को प्रदर्शनकारियों से खाली करवाना चाहते थे। झड़प में दिल्ली पुलिस का एक एसएचओ घायल हो गया।

स्थानीय लोग प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे और दो महीने से अधिक समय से स्थल पर मौजूद आंदोलनकारियों को जगह खाली करने के लिए कहने लगे। दोनों पक्षों में तीखी बहस के बाद, स्थानीय लोगों ने किसानों के तंबू पर हमला करना शुरू कर दिया। इसके बाद दोनों समूहों के बीच पथराव हुआ। दिल्ली पुलिस और सिंघु सीमा पर तैनात सुरक्षाकर्मियोंको प्रदर्शन स्थल पर भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े।

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया। अलीपुर पुलिस स्टेशन हाउस ऑफिसर सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, कई लोगों को हिरासत में लिया गया है।

भारतीय किसान यूनियन  के नरेश टिकैत ने आज कहा कि  सरकार हठधर्मी हो रही है, अगर सरकार चाहती तो फैसला बहुत जल्दी हो जाता। अगर मुद्दे का हल नहीं होता तो गाज़ीपुर बाॅर्डर पर आंदोलन चलेगा। 

आप नेता, मंत्रियों ने दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शनकारी किसानों से मुलाकात की

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्रियों सहित आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं ने शुक्रवार को दिल्ली की तीनों सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों से मुलाकात की। आप के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया शुक्रवार सुबह 11.30 बजे गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे। सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि आप के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने गुरुवार रात एक बैठक में प्रदर्शन स्थल पर जाने का फैसला किया था।

उन्होंने यह भी बताया कि आप नेताओं ने दिल्ली सरकार द्वारा उन्हें प्रदान की जा रही पानी, शौचालय और नागरिक सुविधाओं का जायजा लेने के लिए सीमाओं पर किसान विरोध स्थलों का दौरा करने की योजना बनाई थी।

आप सरकार आंदोलन की शुरुआत से ही प्रदर्शनकारीकिसानों का समर्थन कर रही है। आप प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को एक बार फिर किसानों के समर्थन में सामने आए और ट्वीट किया, हम किसानों के साथ खड़े हैं। आपकी मांगें वास्तविक हैं। किसानों को बदनाम करना और उन्हें देशद्रोही बताना पूरी तरह से गलत है।

एक अन्य वरिष्ठ आप नेता सत्येंद्र जैन ने सिंघु सीमा का दौरा किया, जहां किसान पिछले दो महीनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जैन के साथ आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा भी थे, जिन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस ने किसानों को पानी की आपूर्ति बाधित करने की कोशिश की।





Home

Categories Uncategorized

Leave a Comment