सुशांत सिंह राजपूत पर बनी फिल्मों की रिलीज पर रोक नहीं, ‘न्याय’ पर दिवंगत एक्टर के पिता की अपील हाई कोर्ट ने नहीं मानी

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की जीवनी पर आधारित बताई जा रही फिल्मों की रिलीज पर रोक से दिल्ली हाई कोर्ट ने इनकार कर दिया है। सुशांत के पिता केके सिंह ने इस संबंध में अदालत का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने इन फिल्मों को निजता का उल्लंघन और सुशांत की मौत के मामले की जाँच प्रभावित होने का हवाला दिया था।

लेकिन दिल्ली हाई कोर्ट के जस्टिस संजीव नरूला ने बुधवार (9 जून 2021) को उनकी अपील खारिज कर दी। उन्होंने कहा कि ‘न्याय: द जस्टिस’ सुशांत से समानता नहीं दिखाती और यह उनकी बॉयोपिक नहीं है। इससे पहले अप्रैल में हाई कोर्ट ने इस याचिका पर नोटिस जारी की थी। फिल्म के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर की दलीलों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। यह फिल्म 11 जून को रिलीज होनी है।

केके सिंह ने ‘न्याय- द जस्टिस’, ‘आत्महत्या या हत्या: ए स्टार वाज लास्ट’ और ‘शशांक’ जैसी फिल्मों को लेकर याचिका दायर की थी। इन्हें सुशांत की कहानी वाली मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए कहा था कि इससे जाँच प्रभावित होगी।

निजता के अधिकार के उल्लंघन का हवाला देते हुए उन्होंने कहा था, “हाल के समाचार लेखों और फिल्मों के प्रकाशनों के आलोक में सुशांत के निजी जीवन, नाम/ छवि/ व्‍यंग्‍यचित्र/ जीवनशैली को बॉयोपिक के रूप में दर्शाया गया है। दिवंगत अभिनेता के निजी जीवन का ऐसा कोई भी प्रकाशन, निर्माण या चित्रण निजता के मौलिक अधिकार का ज़बरदस्त और जानबूझकर उल्लंघन है, जिसमें प्रचार का अधिकार शामिल है।”

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून 2020 को मुंबई में अपने घर में मृत मिले थे। उनकी हत्या की गुत्थी अभी तक नहीं सुलझी है। सीबीआई इसकी जाँच कर रही है। वहीं, एनसीबी इस मामले में कई बॉलीवुड सितारों से पूछताछ कर चुकी है। हाल में कुछ मीडिया रिपोर्टों में बताया गया था कि सुशांत की गर्लफ्रेंड रही रिया चकवर्ती ने सारा अली खान के साथ ड्रग्स लेने की बात कबूली है। रिपोर्टों की माने तो नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने रिया का यह बयान चार्जशीट में भी शामिल किया गया है। इसके मुताबिक सारा ने ही केदरनाथ के दौरान सुशांत को भी मारिजुआना की लत लगाई थी।

Leave a Comment