सुशील कुमार 6 दिनों की पुलिस रिमांड पर, सागर के पिता ने कहा- ऐसी सजा दी जाए, जो सबके लिए बने नजीर

जूनियर रेसलर सागर धनखड़ की हत्या के मामले में फरार चल रहे ओलंपिक विजेता सुशील कुमार को उसके साथी अजय के साथ दिल्ली पुलिस ने 19वें दिन गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पहलवान सुशील और कॉन्ग्रेस के नगर निगम पार्षद सुरेश बक्करवाला के बेटे अजय बक्करवाला को दिल्ली की रोहिणी कोर्ट ने 6 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।

पुलिस के अनुसार, सागर की पिटाई करते हुए वीडियो इसलिए बनाई गई थी, ताकि सुशील का अपने सर्किल में वर्चस्व बना रहे और कोई भी उसका विरोध न करे। सुशील ने ही प्रिंस को वीडियो बनाने को कहा था, लेकिन जब सागर की मौत हो गई तो सभी आरोपित भाग गए।

वहीं, सागर के पिता अशोक का कहना है कि सुशील ने गुरु-शिष्य की परंपरा को कलंकित किया है। उससे सभी अवॉर्ड वापस लिए जाने चाहिए। साथ ही ऐसी सजा दी जाए, जो सबके लिए नजीर बने।

समाचार एजेंसी एएनआई से उन्होंने कहा कि हत्यारोपित सुशील की गिरफ्तारी से परिवार का खाकी पर विश्वास बढ़ा है। सुशील के खिलाफ काफी सारे सुबूत हैं। हम सब यही माँग करते हैं कि उसे सख्त से सख्त सजा दी जाए। हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। इससे लोगों का न्याय व्यवस्था में विश्वास बढ़ेगा।

सागर के पिता अशोक ने आगे कहा कि उनके बेटे की हत्या हुई है। किसी तरह के अनावश्यक दबाव डालने की बात कोई सोच भी नहीं सकता। कहीं से कोई दबाव नहीं है और न ही वह अब झुकेंगे। न्याय मिलने तक उनकी लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने माँग की है कि सुशील कुमार से कड़ाई से पूछताछ होनी चाहिए। सच सबके सामने आना चाहिए कि सुशील किन-किन गैंगस्टर्स के संपर्क में था। वहीं, सागर के मामा आनंद का कहना है कि वो न्याय के लिए अंतिम साँस तक लड़ेंगे। पूरा समाज और परिवार न्याय के लिए एकजुट है।

चार मई की रात की गई थी सागर पहलवान की हत्या

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में चार मई की रात सागर पहलवान की हत्या हुई थी। हत्या का आरोप सुशील कुमार और उसके साथियों पर लगा था। इसके बाद से सुशील कुमार अपने साथी अजय के साथ फरार चल रहा था। दिल्ली पुलिस ने सुशील कुमार पर एक लाख व उसके साथी अजय पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। रविवार (23 मई 2021) को दोनों को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Updated: November 26, 2021 — 7:26 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *