11 साल से रहमान से साथ रह रही थी गायब हुई लड़की, परिवार या आस-पड़ोस में किसी को भनक तक नहीं: केरल की घटना

केरल में 11 साल पहले गायब हुई लड़की अब जाकर मिली है। वो कहीं और नहीं, बल्कि अपने घर से मात्र आधे किलोमीटर की ही दूरी पर रहमान नाम के एक व्यक्ति के साथ रह रही थी। पिछले एक दशक में इसका अंदाज़ा पड़ोसियों से लेकर घर-परिवार तक को नहीं लगा। ये घटना पलक्कड़ जिले के अयालूर कस्बे की है। सजीथा फरवरी 2010 में ही गायब हो गई थी, लेकिन मिसिंग कंप्लेंट दायर किए जाने के बावजूद पुलिस उसे नहीं खोज पाई थी।

रहमान के पास इतने रुपए नहीं थे कि वो रेंट पर घर ले पाता, इसीलिए उसने कुछ ऐसा तिकड़म आजमाया कि लड़की को घर में भी रख लिया और परिवार तक में भी किसी को भनक तक न लगी। घर में रहमान और उसकी प्रेमिका के अलावा उसके पिता, माँ, बहन और भतीजा भी था। जब भी उस छोटे से कमरे के कोई नजदीक भी आता रहा, रहमान गुस्सा हो जाता था और अजीबोगरीब व्यवहार करता था, ताकि लोग ऐसा समझें जैसे वो अवसाद में है। धीरे-धीरे परिवार ने रहमान और उस कमरे को नज़रअंदाज़ करना शुरू कर दिया।

रहमान काफी बार काम पर भी नहीं जाता था, अपना भोजन कमरे में ही करता था और अंदर ही बैठा रहता था। सजीथा भी सिर्फ रात को निकल कर स्नान वगैरह करती थी, जब बाकी लोग सो रहे होते थे। रात को ही वो बाहर निकल कर बैठती भी थी। लुकाछिपी का ये खेल एक दशक से भी अधिक समय से चल रहा था। कम आय के कारण मजबूर होकर भी रहमान और उसकी प्रेमिका उस छोटे से कमरे से बाहर नहीं निकलते थे।

जब रहमान को काम पर जाना होता था तो वो वो लंच बनवाता था और उसे उसी कमरे में सजीथा के लिए रख कर चला जाता था। घर में बाकी लोग भी काम पर जाते थे, इसीलिए सजीथा भी निश्चिंत रहती थी। लेकिन, मार्च 2021 में रहमान ही गायब हो गया और उसके परिवार ने मिसिंग कंप्लेंट दायर की। जून 7, 2021 को रहमान के भाई ने उसे एक पुलिस चेकपॉइंट पर देखा, जिसे कोविड-19 के कारण बनाया गया था।

तब रहमान ने उसे बताया कि वो एक किराए के घर में सजीथा के साथ रहता है। इसके बाद जब परिवार और पुलिस ने पूछताछ की तो दोनों ने अपनी कारस्तानियों के बारे में खुलासा किया। सजीथा ने पुलिस को बताया कि वो कैसे खिड़की से उस कमरे से बाहर निकलती थी। साथ ही पिछले 11 वर्षों में घर में क्या-क्या हुआ, कौन-कौन आया और क्या-क्या बातें हुईं, उसने ये सब कुछ हूबहू बता दिया। घर में हुए कार्यक्रमों तक की गतिविधियाँ उसे पता थीं।

हालाँकि, दंपति को कोर्ट में पेश किए जाने के आबाद सजीथा को रहमान के साथ जाने दिया गया। 34 वर्षीय रहमान और 28 वर्षीय सजीथा की कहानी सुन कर इलाके के लोग भी स्तब्ध हैं। छोटे से कमरे में अंदर और बाहर, दोनों तरफ से ताला मारा जाता था। नेमारा थाने की पुलिस ने बताया कि रहमान करात्पराम्बु में रहने वाले मोहम्मद गनी का बेटा है, जबकि सजीथा के पिता वेलायुधन आस-पड़ोस में ही रहते हैं।

Leave a Comment