17 साल पहले मुस्लिम महिला से निकाह के लिए बदला धर्म, अब बेटा हिंदू लड़की को लेकर फरार: बाप कॉन्स्टेबल, बेटा 10वीं का छात्र

उत्तर प्रदेश के संभल में धर्मांतरण से जुड़ा एक अजीब मामला सामने आया है। वहाँ एक हिंदू युवक ने 17 साल पहले मुस्लिम महिला से निकाह करने के लिए इस्लाम कबूला था और अब उसी व्यक्ति का बेटा हिंदू धर्म की एक लड़की से प्रेम में पड़कर उसे अपने साथ भगा ले गया है। लड़की की माँ ने इस बाबत थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस की टीमें दिल्ली, मुरादाबाद और अमरोहा में दोनों की तलाश कर रही हैं।

जानकारी के अनुसार, पूरी घटना मोहल्ला हल्लू सराय की है। लड़का-लड़की के बीच प्रेम प्रसंग पिछले 6 माह से चल रहा था। दोनों 2-2 किलोमीटर की दूरी पर रहते थे। इनमें आरोपित लड़का 10वीं का स्टूडेंट है और लड़की 9वीं की छात्रा है। दोनों 15 हजार रुपए लेकर फरार हुए हैं। लड़की के परिजनों का कहना है कि लड़का उसे बहला फुसला कर अपने साथ ले गया।

दैनिक भास्कर की खबर में बताया गया है कि हल्लू सराय में अरविंद कुमार सिपाही का घर है। लगभग 17 साल पहले उन्होंने अपना धर्म बदलकर एक मुस्लिम महिला से निकाह किया था। इसके बाद दोनों का एक बेटा हुआ जिसका एडमिशन कुछ समय पहले सिपाही ने पास के स्कूल में करवाया था। जहाँ उसका 16 साल की एक हिंदू लड़की से अफेयर शुरू हो गया।

6 माह तक दोनों के बीच में प्रेम प्रसंग चलता रहा, लेकिन उसके बाद परिजनों को इसका पता लग गया। विरोध होने पर गुरुवार को सिपाही का बेटा लड़की को अपने साथ भगा ले गया। संभल थाने के प्रभारी विकास सक्सेना ने इस बाबत सिपाही को बुलाकर उससे पूछताछ की। अब दिल्ली मुरादाबाद और अमरोहा में उनकी तलाश चल रही है। इसके अलावा शहर के मुख्य चौराहों के सीसीटीवी भी खँगाले जा रहे हैं।

लड़की के घरवाले जल्द से जल्द अपनी बच्ची की बरामदगी की माँग कर रहे हैं। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि उसे जल्द ढूँढ लिया जाएगा। वहीं संभल के एएसपी आलोक जायसवाल ने बताया कि अरविंद कुमार सिपाही के धर्म बदलने का पूरा मामला 2004 का है। उसका सर्विस रिकॉर्ड चेक हो रहा है। पड़ताल में जो भी सामने आएगा उस पर विधिक कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस को अभी तक यही पता चला है कि अरविंद ने मुस्लिम महिला से शादी की हुई है। आगे की पड़ताल चल रही है। उन्हें पता चला है कि धर्मांतरण के बाद भी सिपाही ने रिकॉर्ड में अपना नाम नहीं बदला और हर जगह उसका नाम अरविंद ही दर्ज है।

Updated: October 2, 2021 — 3:11 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *