By | May 13, 2020
आत्म निर्भर योजना के लाभ व पात्रता Aatm Nirbhar Yojana 2020

आत्म निर्भर भारत पैकेज – प्रधानमन्त्री द्वारा घोषित आत्म निर्भर राहत पैकेज 20 लाख करोड़ में किसी क्या मिलेगा फायदा वित मंत्री द्वारा पूरी जानकारी

आत्म निर्भर योजना के लाभ व पात्रता Aatm Nirbhar Yojana 2020

प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ का राहत पैकेज में किसी क्या मिला जाने वित मंत्री निर्मला सीतारमण कि घोषणा पूरा ब्योरो लॉक डाउन के तहत 12 मई को राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री जी ने बड़े राहत पैकेज कि घोषणा कि थी जिसमे उन्होंने लॉकडाउन का कुल 20 करोड़ का राहत पैकेज जारी किया और कहा इसका पूरा ब्योरो वित मंत्री जी द्वारा दिया जायगा और आज वित मंत्री निर्मला सीतारमण ने किसे क्या दिया यहा जाने किस क्षेत्र में क्या मिला है

वित मंत्री बड़ी घोषणा आत्म निर्भर भारत पैकेज

  • एमएसएमई के लिए 6 कदम उठाए जा रहे हैं, एमएसएमई को तीन लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा। 31 अक्तूबर से लोन मिलेगा।
  • 100 करोड़ वाली एमएसएमई यूनिट को लोन में राहत मिलेगी।
  • बिना गारंटी के 3 लाख करोड़ रुपये तक का लोन।
  • 45 लाख एमएसएमई को इससे फायदा होगा।
  • एक साल तक मूल धन नहीं चुकाना होगा।
  • एनपीए वाले एमएसएमई को भी मिलेगा लोन।
  • विस्तार करने वाले एमएसएमई को 50 हजार करोड़, तनाव वाले एमएसएमई को 20 हजार करोड़।
  • फायदे के लिए एमएसएमई की परिभााषा में बदलाव। 50 करोड़ के टर्नओवर वाली यूनिट को एमएसएमई मानेंगे। 10 करोड़ के निवेश को लघु उद्योग मानेंगे। 1 करोड़ निवेश, 5 करोड़ टर्नओवर वाली यूनिट को सूक्ष्म उद्योग मानेंगे।
  • विदेशियों की जगह देसी कंपनियों को काम। 200 करोड़ रुपये तक के सरकारी टेंडर में ग्लोबल टेंडर नहीं।

आत्म निर्भर भारत पैकेज

  • 15 हजार रुपये से कम वेतन वालों का ईपीएफ अगस्त तक सरकार देगी।
  • कर्मचारियों के लिए अगले तीन महीने यानि अगस्त तक 12 की जगह 10 फीसदी ईपीएफ योगदान। लेकिन सरकारी कर्मचारियों के लिए 12 फीसदी ही रहेगा।
  • 72 लाख कर्मचारियों को ईपीएफ में राहत।
  • एनबीएफसी के लिए 30 हजार करोड़ रुपये की स्कीम।
  • बिजली वितरण कंपनियों के लिए 90 हजार करोड़ रुपये की मदद।
  • सरकारी ठेकेदारों को 6 महीने का विस्तार दिया जाएगा।
  • टीडीएस में 25 फीसदी कटौती, टैक्स में 100 रुपये देते थे, अब 75 रुपये देने होंगे। जनता को 50 हजार करोड़ रुपये का फायदा।
  • आईटीआर भरने की तारीख 30 नवंबर 2020 तक बढ़ाया जाएगा। टैक्स ऑडिशन को भी 31 अक्तूबर तक बढ़ा दिया जाएगा।

MSME, पीएफ खाताधारक, NBFC सहित इन सबको मिली राहत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पैकेज की घोषणा करते हुए कहा था कि आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए इस पैकेज में लैंड, लेबर, लिक्विडिटी सभी पर बल दिया गया है।
आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए जो संकल्प प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया है, उसने देशवासियों में नई ऊर्जा भर दी है। लोग संकट में भी अवर देख रहे हैं। भारत की कंपनियों ने दुनिया में दवाइयां पहुंचाई, जिसकी काफी प्रशंसा हुई। जब तक भारत आत्मनिर्भर नहीं हो जाता, इस दिशा में काम होता रहेगा।

आत्म निर्भर भारत पैकेज

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि पीएम मोदी ने निर्देश दिया है कि प्रतिदिन अलग-अलग सेक्टर को लेकर जानकारी दी जाएगी। डिमांड को कैसे बढ़ाना है, डिमांड सप्लाई चेन कैसे बनी रहे और अर्थव्यवस्था कैसे दुरुस्त रहे इस पर काम करने की जरूरत है। गरीबों के खाते में सीधा पैसा पहुंच रहा है। डीबीटी के जरिए हमारी सरकार गरीबों तक मदद पहुंचाने का काम कर रही है।
कोरोना के कारण जैसे ही लॉकडाउन की घोषणा हुई, सरकार 1.70 लाख करोड़ रुपये का पैकेज लेकर आई। हमने यह सुनिश्चित किया कि देश का कोई गरीब, किसान और मजदूर भूखा ना रहे। पहली बार जब राहत पैकेज की घोषणा की गई थी उसमें 41 करोड़ अकाउंट्स में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के जरिए सीधे मदद पहुंचाई गई।

राहत पैकेज 20 लाख करोड़

एमएसएमई को तीन लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा। एमएसएमई के लिए सरकार छह कदम उठाएगी। वित्त मंत्री ने कहा कि 31 अक्तूबर 2020 से एमएसएमई को लोन की सुविधा मिलेगी। बिना गारंटी के 3 लाख करोड़ तक का लोन दिया जाएगा और 45 लाख एमएसएमई को इसके तहत फायदा होगा। इन्हें एक साल तक मूल धन नहीं चुकाना होगा। तनाव वाली एमएसएमई को 20,000 करोड़ का कर्ज दिया जाएगा।
जिस MSME का टर्नओवर 100 करोड़ है वे 25 करोड़ तक लोन ले सकते हैं। जो लोन दिया जाएगा उसे चार सालों में चुकाना होगा। आकार बढ़ाने की चाहत रखने वाली एमएसएमई के लिए फंड्स ऑफ फंड्स का प्रावधान किया गया है, जिससे 50 हजार करोड़ की इक्विटी इंफ्यूजन होगी। जिस MSME का टर्नओवर 100 करोड़ है वे 25 करोड़ तक लोन ले सकते हैं। जो लोन दिया जाएगा उसे चार सालों में चुकाना होगा। आकार बढ़ाने की चाहत रखने वाली एमएसएमई के लिए फंड्स ऑफ फंड्स का प्रावधान किया गया है, जिससे 50 हजार करोड़ की इक्विटी इंफ्यूजन होगी।
पहले सिर्फ निवेश के आधार पर एमएसएमई की परिभाषा तय की जाती थी, पर अब टर्नओवर के आधार पर भी एमएसएमई की परिभाषा तय की जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि ज्यादा निवेश वाली कंपनियों को भी एमएसएमई के दायरे में ही रखा जाएगा। माइक्रो यूनिट में 25 हजार रुपये तक का निवेश माना जाता था। इसे बदलकर 1 करोड़ रुपये किया गया है। साथ ही अगर टर्नओवर 5 करोड़ तक का है, तब भी आप माइक्रो यूनिट के अंदर ही आएंगे। इससे एमएसएमई का बिजनेस करना आसान होगा और आत्मनिर्भर भारत अब मेक इन इंडिया के तहत आगे बढ़ेगा।

राहत पैकेज 20 लाख करोड़

15 हजार रुपये से कम सैलरी वालों को सरकारी सहायता मिलेगी। सैलरी का 24 फीसदी सरकार पीएफ में जमा करेगी। इसके लिए सरकार की ओर से 2,500 करोड़ की मदद दी जा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा पीएफ कॉन्ट्रीब्यूशन अगले तीन महीनों के लिए घटाया जा रहा है। यह कदम नियोक्ताओं के लिए उठाया गया है। पीएसयू को 12 फीसदी ही देना होगा। पीएसयू पीएफ का 12 फीसदी ही देंगे लेकिन कर्मचारियों को 10 फीसदी पीएफ देना होगा।
एनबीएफसी को 45,000 करोड़ की पहले से चल रही योजना का विस्तार होगा। आंशिक ऋण गारंटी योजना का विस्तार होगा। इसमें डबल ए या इससे भी कम रेटिंग वाले एनबीएफसी को भी कर्ज मिलेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि एनबीएफसी के लिए सरकार की 30 हजार करोड़ की स्पेशल लिक्विडिटि स्कीम है। एनबीएफसी के साथ हाउसिंग फाइनेंस और माइक्रो फाइनेंस को भी इसी 30 हजार करोड़ में जोड़ा गया है। इनकी पूरी गारंटी भारत सरकार देगी।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि डिस्कॉम यानी पावर जनरेटिंग कंपनियों को कैश फ्लो की दिक्कत हो रही है इसलिए उनके लिए 90 हजार करोड़ की सहायता तय की गई है। बिजली वितरण कंपनियों की आय में भारी कमी आई है। बिजली उत्पादन और वितरण करने वाली कंपनियों के लिए यह प्रावधान किया गया है। 90 हजार करोड़ रुपये सरकारी कंपनियों पीएफसी, आरईसी के माध्यम से दिया जाएगा।

आत्म निर्भर भारत पैकेज

निर्माण के काम के लिए छह महीने तक के लिए एक्सटेंशन दिया जा रहा है। निर्धारित समय में किए जाने वाले काम को तय तारीख से छह महीने के लिए बढ़ा दिया गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा 25 मार्च 2020 के बाद जो भी रजिस्ट्रेशन और कंस्ट्रक्शन के लिए आगे बढ़े हैं, उन्हें छह महीने के लिए फायदा होगा। बिल्डरों को भी मकान पूरा करने के लिए अतिरिक्त वक्त दिया जाएगा।
इनकम टैक्स रिटर्न की तारीख 30 नवंबर 2020 तक बढ़ा दी गई है। इनकम टैक्स में ट्रस्ट, एलएलपी को सभी पेंडिंग फंड तत्काल रूप से दिए जाएंगे। कल से अगले साल तक टीडीएस और टीसीएस के लिए 25 फीसदी भुगतान में छूट दी जा रही है जो कि अगले साल 31 मार्च 2021 तक जारी रहेगी। यह सभी पेमेंट पर लागू होगा चाहे वह कमीशन हो, ब्रोकरेज हो या कोई अन्य पेमेंट। इससे 50 हजार करोड़ रुपये का फायदा होगा। जिनके भी रिफंड लंबित हैं, उन्हें जल्द से जल्द भुगतान किया जाएगा।
इसके अतिरिक्त वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि विवाद से विश्वास स्कीम के तहत जिन कंपनियों के टैक्स विवाद बाकी हैं, वह 31 दिसंबर 2020 तक बिना किसी ब्याज के टैक्स दे सकते हैं।

5 Replies to “जाने किसी क्या मिलेगा आत्म निर्भर भारत पैकेज में लाभ”

  1. रामस्वरूप

    मैं राजस्थान से एक लघु किसान हुं ओर स्टेटbpl राशनकार्ड धारक हुं ओर मुझे इस लाकडाउन में 10किलो गेहूं के सिवाय कुछ भी नहीं मिला है ओर सरकार की एजेंसीयो की तरह सेsmsभेजे जा रहे हैं कि आपको किसी भी पेन्सन योजना का लाभ नहीं मिल रहा इसलिए आपको पेसै भेजें जा रहे हैं मैंरे पास एजेंसी यो की तरह से पहला sms मिला है कि आपके बैंक खाते पी एम किसान सम्मान निधि में 2000रुपये डाल दिए हैं लेकिन जब मेने स्टेटस चेक किया तो आधार नंबर व बैंक अकाउंट नंबर दोनों में इन्होंने आधार नंबर जोड़ें दिया इसलिए पैसा तो इन्होंने डाला होगा पर वह पैसा मेरे खाते में जमा नहीं हुआ है मैं ई मित्रा के पास गया उसने कहा यह काम तहसील में होगा तहसील वाले बोल रहे है कि आप लाकडाउन के बाद आना अगर कोई भी भाई मेराpm stets janna chaahe to 98183873se dekha saktea h दुसराsms यह आया कि आपके जन-धन खाते में 2500रुपया डाल दिया गया है ओर आप घर बैठे रहे यह सब बकवास है ओर मेरे खाते में एक पेसा भी नहीं आया है

  2. रामस्वरूप

    मैं राजस्थान से एक लघु किसान हुं ओर स्टेटbpl राशनकार्ड धारक हुं ओर मुझे इस लाकडाउन में 10किलो गेहूं के सिवाय कुछ भी नहीं मिला है ओर सरकार की एजेंसीयो की तरह सेsmsभेजे जा रहे हैं कि आपको किसी भी पेन्सन योजना का लाभ नहीं मिल रहा इसलिए आपको पेसै भेजें जा रहे हैं मैंरे पास एजेंसी यो की तरह से पहला sms मिला है कि आपके बैंक खाते पी एम किसान सम्मान निधि में 2000रुपये डाल दिए हैं लेकिन जब मेने स्टेटस चेक किया तो आधार नंबर व बैंक अकाउंट नंबर दोनों में इन्होंने आधार नंबर जोड़ें दिया इसलिए पैसा तो इन्होंने डाला होगा पर वह पैसा मेरे खाते में जमा नहीं हुआ है मैं ई मित्रा के पास गया उसने कहा यह काम तहसील में होगा तहसील वाले बोल रहे है कि आप लाकडाउन के बाद आना अगर कोई भी भाई मेराpm stets janna chaahe to 98183873se dekha saktea h दुसराsms यह आया कि आपके जन-धन खाते में 2500रुपया डाल दिया गया है ओर आप घर बैठे रहे यह सब बकवास है ओर मेरे खाते में एक पेसा भी नहीं आया है

  3. admin Post author

    इसके लिए आप चेक कर सकते है जनसूचना पोर्टल पर

  4. Anonymous

    Sir ji lon kasa mela ga ji call me back 9927901462

  5. Pingback: राजीव गांधी किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ किसान न्याय योजना - DLS NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published.