By | July 17, 2020

Arthritis (Joint Pain) Jodo Me Dard Kyu Hota Hai-बढ़ती उम्र के साथ साथ जोड़ो के दर्द की परेशानी भी बढ़ती जाती है खास तोर से यह परेशानी बुजुर्गो यानि उम्र दराज लोगो मे ज्यादा देखि जाती है क्यो की उम्र बढ्ने पर शरीर मे यूरिक ऐसिड की मात्रा भी बढ़ जाती है क्यो की बुजुर्गो मे किडनी का कार्य कमजोर हो जाता है ओर किडनी मूत्र के साथ इसका विसर्जन नही कर पाती है इस लिय शरीर मे यूरिक ऐसिड का लेवल बढ़ जाता है ओर बूजोर्गों मे परेसानी का कारण बन जाता है वेसे फास्ट फूड के कारण यह बीमारी युवाओ मे भी काफी मात्रा मे देखने को मिलती है क्यो की इस का सबसे बड़ा कारण शरीर को उचित पोषण नही मिलने के कारण होता है जिस से शरीर को कैल्शियम ,फास्फोरस ,मेग्नीशियम आदि की कमी हो जाती है क्यो की यह मिनरल शरीर मे हडी के निर्माण के लिय बहुत आवस्यक होते है

Joint Pain- का कारण

Arthritis (Joint Pain) Jodo Me Dard Kyu Hota Hai-बदलते हुये मोसम जैसे अधिक सर्दी व गर्मी ओर वातावरण के साफ नही रहने जैसे – बादलो का छाया रहना आदि की वजह से भी इनवायरमेंट सही नही रहता है जिस कारण joint Pain की समस्या बढ़ जाती है ओर शरीर मे Vitamin D की कमी होना क्यो की यह विटामिन डी हडी निर्माण के लिय सर्वोच्य विटामिन माना जाता है इसकी प्राप्ति सुबह के समय निकल ने वाली सूर्य की लाल किरणों से बहुत होती है इसी के साथ साथ विभिन प्रकार के मिनरल्स की कमी की वजह से joint Pain अधिक बढ़ जाता है जैसे -Ca ,Fa,Mg आदि !

Arthritis (Joint Pain) को कम करने या रोकने के उपाय

कुछ इस प्रकार के उपायो के द्वारा joint pain को कम या रोका जा सकता है जैसे – व्यायाम करना ,खानपान मे बदलाव यानि उचित पोषण ,अधिक मात्रा मे शुद्ध पानी पीना ,फिजियोथेरेपी का इस्तेमाल करना आदि !

व्यायाम करना

उचित व्यायाम के द्वारा joint pain को 90% तक कम किया जा सकता है क्यो की व्यायाम करने से शरीर का टेम्परेचर बढ़ता है जिस कारण बॉडी मे रक्त के संचार की गति बढ़ जाती है ओर शुद्ध रक्त शरीर की हर कोशिका तक पहुचता है जिससे शरीर की कोशिका ,ऊतको ,मास्पेसियों का मूवमेंट बढ़ जाता है क्यो की व्यायाम करने से शरीर व उसके जोड़ो मे उपास्थि अपसिस्ट को बाहर निकाल दिया जाता है !

खानपान मे बदलाव करके

उचित खानपान करने से हड्डियों के निर्माण मे काम आने वाले मिनरल्स की जैसे -कैल्शियम ,फास्फोरस ,मेग्नीशियम ओर Vitamin D आदि की कमी नहीं होगी तो joint pain जैसी समस्या भी न के बराबर होगी अगर आप अपने भोजन मे हरी पतेदार सबजिया ,केले ,विभिन प्रकार की दाल ,दुग्ध ,दही ,अंडा ,सोयाबीन ,दलिया आदि को अपने भोजन मे शामिल करना न भूले ,इससे आपके शरीर को पोषण की पूर्ति होती रहेगी !

शुद्ध पानी का उचित मात्रा मे उपयोग करे

एक व्यस्क मानव के शरीर का 85% भाग पानी से ही निर्मित होता है शरीर को विपरीत परिस्थितियो मे जैसे – बीमारी ,भोजन नही मिलना आदि अवस्थाओ मे पानी ही शरीर को जिंदा रख पाता है ओर जोड़ो के मूवमेंट व जोड़ो के विभिन कार्यो के लिय जैसे -बाह्य चोट के लगने पर जाइंट के ऊपर पानी गद्दे का कार्य करता है ओर जाइंट को सुरक्षा प्रदान करता है

जोइंट पैन होने पर क्या न करे

अत्यधिक मिर्च -मसालो का सेवन न करे , अधिक मात्रा मे तेलीय पदार्थो का उपयोग नही करे ,रेफ्रीजरेटर मे रखी गई किसी भी खाद्य वस्तुओ का उपयोग न करे ,अत्यधिक व्यायाम न करे ,अत्यधिक भोजन (ओवर इटिंग )न करे ,दुग्ध के साथ नमक का उपयोग न करे ,फास्ट फूड का उपयोग न करे ,पुराने भोजन का उपयोग न करे ,रात के समय मे न जागे बल्कि पूर्ण रूप से नींद ले जोइंट पैन से ग्रसित जोड़ को अत्यधिक समय तक मोड़ के न रखे !

All PM Yojana

Leave a Reply

Your email address will not be published.