By | May 7, 2020
corona-news मिल गया कोरोना का इलाज UAE किया दावा इस तकनिकी से कोरोना मरीज होंगे ठीक

Covid-19 महाबिमारी के पूरी दुनिया इसके दवा बनाने में लगी है तरह तरह के प्रोजेक्ट चल रहे है इसी बिच आई एक बड़ी खबर कोरोना कि मिली दवा

corona-news मिल गया कोरोना का इलाज UAE किया दावा इस तकनिकी से कोरोना मरीज होंगे ठीक

Dls News Hindi – corona ( Coronavirus ) के खतरे से निपटने के लिए पूरी दुनिया में वैक्सिन ( Vaccine ) बनाने की कोशिश की जा रही है। डॉक्टर और चिकित्सक लगातार इस पर शोध कर रहे हैं और कई देशों में संभावित दवाइयों के क्लिनिकल ट्राइल भी किए जा रहे हैं। इस बीच संयुक्त अरब अमीरात ने भी कोरोना की दवा का सफल ट्राइल करने का दावा किया है। UAE के एक संस्थान ने का दावा है कि उसने इन्फेक्शन के इलाज के लिए ‘गेम-चेंजर’ तकनीक निकाली है।

दरअसल, संस्थान ने स्टेम सेल्स की सहायता से कोरोना मरीजों के इलाज करने का दावा किया है।

Coronavirus

विदेश मंत्री ओतैबा ने बताया है कि इस तकनीक का इस्तेमाल किया गया है और पहले चरण का क्लीनिकल ट्रायल सफल रहा है। अब तक कुल 73 मरीजों पर इसका परीक्षण किया जा चुका है और सभी के सभी ठीक हो चुके हैं। किसी भी मरीज में कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। अब इस ट्रीटमेंट प्रक्रिया को पुख्ता साबित करने के लिए अधिक से अधिक ट्रायल किए जा रहे हैं,

जिसका परिणाम आने वाले दिनों में दिखेंगे। इसके बाद इसके नतीजों को देखते हुए कुछ आधिकारिक फैसला लिया जाएगा।

Remdesivir अभी तक सबसे प्रभावी दवा

आपको बता दें कि Remdesivir को कोरोना के खिलाफ इलाज के लिए सबसे प्रभावी दवा माना जाता है।

अमरीका में इसके थर्ड स्‍टेज की टेस्टिंग में पॉजिटिव रिजल्‍ट्स आए हैं। कैलिफोर्निया की दवा कंपनी
गिलीड साइंसेज ने कहा है कि शुरुआती रिजल्‍ट्स बताते हैं कि ‘रेम्डेसिविर’ दवा की 5 दिन की खुराक
के बाद COVID-19 के मरीजों में से 50 प्रतिशत की हालत में सुधार हुआ। थर्ड स्‍टेज की टेस्टिंग के
बाद ही दवा को अप्रूवल मिलता है।

बता दें कि ‘रेम्डेसिविर’ को अभी तक विश्व में कोई मंजूरी या लाइसेंस नहीं मिला है और न ही
कोविड-19 के उपचार में यह अभी तक सुरक्षित या प्रभावी साबित हुई है। मालूम हो कि
‘रेम्डेसिविर’इबोला के इलाज के लिए विकसित किया गया था।

GOVT SCHEMEक्लिक करे
ताजा समाचार हिंदीक्लिक करे
किसान योजनाक्लिक

Leave a Reply

Your email address will not be published.