By | May 23, 2020

जेसा की आप जानते है की इस पूरे संसार को एक अदृस्य वाइरस ने घेर रखा है जिसका नाम कोरोना वाइरस है ओर यह वाइरस एक आदमी से दूसरे आदमी फेलता है वो भी तेजी से

पूरे भारत मे कोरोना के फेल जाने से देश मे लोक डाउन लगा हुआ है जिसक्के कारण देश के विभिन राज्यो के लोग अलग अलग राज्यो मे फंसे सुए है जो की सब अपने घर पर जाना चाहते है लेकिन लोक डाउन की वजह से अपने घर पर जा नही सकते है जिसके कारण उन लोगो को काफी नुकसान हो रहा है ओर काफी प्रेसनियों का सामना करना पड़ रहा है

हिमाचल प्रदेश मे पहुची महामारी

प्रदेश मे पिछले 24 घंटो मे 42 नए केश मिले है जो की कोरोना पोजिटिवे है कोरोना के ये नए मामले मिलने के कारण राज्य की हालत खराब हो रही है है प्रदेश के सूबे मे 152 कोरोना के नए मामले सामने आ चुके है जिनमे से तीन लोगो की मोत हो चुकी है राज्य मे कोरोना के घातक मामले दिनो दिनो बड़ रहे है

प्रदेश मे अबतक 34 हजार से ज्यादा लोगो को क्वांर्टाइन कर चुके है जो की कोरोना पॉज़िटिव पाये गए है फिर भी मामला बेकाबू हो रहा है ओर मामले बड़ रहे है इन 34 हजार मे से 10 हजार लोग चार हफ़्तों मे इस अवधि को पूरा करके अपने घर पर सुरकसीत अपने घर पर पाहुच गए है लगभग 22 हजार लोगो की जांच हो गयी है हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर मे एक ही दिन मे 31 नए मामले सामने आए है जिस जसे राज्य की हालत खराब हो चुकी है

हिमाचल प्रदेश मे प्र्वासी मजदूरो के साथ पहुची महामारी से राज्य की बिगड़ी हालत

अनेक प्र्वासी मजदूर कोरोने की वजह से देश मे लगे लोक डाउन के कारण अपने अपने घरो मे पाहुच रहे है इन प्र्वासी मजदूरो मे कोरोने के लाक्स्ण पाये गए है प्रदेश के मुख्य सचिव आरडी धीमान की दी गयी जानकारी के अनुसार मुंबई से लोटे प्र्वासी मजदूरो ने राज्य की हालत खराब कर दी है इन प्र्वासी मजदूरो मे जो संक्रमित मजदूर है उनको जिला कोविड केयर सेंटर डुगा मे भर्ती कराया गया है

इन प्र्वासी मजदूरो मे कुछ पश्चिम बंगाल से लोटे है जिनमे से 5 लोग संक्रमित पाये गए है इन लोगो को एक अश्र्म जिसका नाम है मजरा आश्रम मे रखकार इनको सील कर दिया गया है ओर संक्रमित लोगो को काठा अस्पताल मे भर्ती किया गया है दून के विधायक परमजीत पमि और नलागढ़ के पूर्व विधायक केएल ठाकूर को क्न्वर्टाइन कर दिया है

प्र्वासी मजदूरो के साथ पहुची महामारी

प्रदेश के चंबा क्षेत्र के तीन संक्रमित लोगो के स्वस्थ हो जाने के बाद उन्हे वापिस घर पर भेज दिया गया है और उन्हे घर से बाहर न जाने की बात काही गयी है चंबा क्षेत्र के सेंटर मे अब सिर्फ माँ बेटी ही बचे है इन दोनों मे अभी तक कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहे है कोरोना के सेंपल न होने पर भी इन लोगो का 27 मई को सेंपल लिया जाएगा कोरोना एक घातक महामारी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.