By | May 16, 2020
Mudra-Loan शिशु मुद्रा लोन पर 2% ब्याज की छूट, आखिर क्या है इस योजना

Mudra scheme Loan मुद्रा लोन योजना के तहत कोई भी व्यक्ति व्यापार के लिए 50 हजार रुपये तक का लोन ले सकता है. इसके लिए उसे कोई गारंटी नहीं देनी पड़ती है.

Mudra-Loan शिशु मुद्रा लोन पर 2% ब्याज की छूट, आखिर क्या है इस योजना

मुद्रा स्कीम के तहत शिशु लोन लेने वालों को सरकार ने कोविड 19 के चलते बड़ी राहत दी है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने ऐलान किया कि मुद्रा स्कीम के तहत शिशु लोन लेने वालों को 12 महीने तक सरकार ब्याज में 2 फीसदी तक छूट देगी. इससे करीब 3 करोड़ लोन लेने वालों के कुल 1500 करोड़ रुपये बचेंगे. बता दें कि इस स्कीम के तहत अपना कारोबार शुरू करने के लिए सरकार कम दरों पर लोन उपलब्ध कराती है. इस स्कीम में 3 श्रेणी में लोन दिए जाते हैं.

देश सेवा का मौका – भारतीय सेना में शामिल होने का अवसर

Mudra scheme Loan

कोरोना संकट के बीच छोटे कारोबारियों को प्रोत्साहन देने के मकसद से केंद्र सरकार ने शिशु मुद्रा लोन पर दो फीसदी छूट देने का ऐलान किया है. अगर आप अपना व्यापार शुरू करने या व्यापार बढ़ाने की सोच रहे हैं तो सरकार की इस योजना का फायदा उठा सकते हैं. शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत 50 हजार रुपये तक का कर्ज ले सकते हैं. तीन करोड़ लोग 12 महीने तक ब्याज दर में दो फीसदी की छूट का फायदा उठा सकते हैं. 1500 करोड़ रुपये का ब्याज सरकार भरेगी.

Mudra scheme Loan

क्या है मुद्रा लोन योजना का मकसद? केंद्र सरकार ने 8 अप्रैल 2015 को मुद्रा लोन योजना की शुरुआत की थी. इस योजना का मकसद व्यापारियों को आसानी से लोन की सुविधा उपलब्ध कराना है. आमतौर पर एक व्यापारी को बैंक से लोन लेने के लिए काफी औपचारिकताएं पूरी करनी पड़ती है. गांरटी भी देनी पड़ती है. इस वजह से व्यापारी चाहकर भी बैंक से लोन लेने में कतराते थे, लेकिन सरकार की मुद्रा योजना (PMMY) के तहत आसानी से बिना गारंटी के लोन ले सकते हैं.मुद्रा योजना में तीन तरह के लोन दिए जाते हैं. इसके तहत 50 हजार रुपये से लेकर 10 लाख तक का लोन मिल सकता है-

अबतक 1.62 ​करोड़ का लोन

वित्त मंत्री के अनुसार मुद्रा स्कीम के तहत अबतक 1.62 करोड़ रुपये का लोन बाटा जा चुका है. ब्याज छूट का 3 करोड़ लोगों को इससे लाभ मिलने वाला है. इससे उनके करीब 1500 करोड़ रुपयों की बचत होगी.

कोरोना वायरस वैक्सीन पर बड़ी कामयाबी, बंदरों में विकसित हुई एंटीबॉडी, अब इंसानों पर हो रहा ट्रायल

50 हजार से 10 लाख तक का लोन

मुद्रा योजना के तहत 50 हजार से 10 लाख तक का लोन मिल जाता है. इसमें 3 तरह के लोन होते हैं. शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक का लोन मिलता है. किशोर लोन के तहत 50 हजार से 5 लाख रुपये तक का लोन और तरुण लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है.

क्या है सरकार का उद्देश्य

सरकार की मुद्रा योजना का उद्देश्य है कि देश के युवा उद्यमी बनने की दिशा में अपना कारोबार शुरू कर सकें, साथ ही इसके जरिए ज्यादा से ज्यादा रोजगार भी उपलब्ध हो सके. हैं. पहला, स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन देना. दूसरा, छोटे उद्यमों के जरिए रोजगार का सृजन करना.

पहले अगर कारोबार शुरू करने के लिए लोन के लिए जाते थे तो कई बैंकों में इसकर प्रक्रिया बहुत जटिल थी, जिस वजह से इसमें देरी होती थी. गारंटी के बिना बैंक भी लोन देने से मना करते थे. लेकिन मुद्रा योजना में बिना गारंटी के लोन मिलता है. लोन के लिए प्रोसेसिंग चार्ज का प्रावधान भी नहीं है. इसमें लोन चुकाने की समय सीमा को भी 5 साल तक के लिए बढ़ाया जा सकता है.

कौन ले सकता है लोन?

कोई भी देश का नागरिक जो अपना कारोबार शुरू करना चाहता है, योजना के तहत आवेदन कर सकता है.

कहां से मिलता है लोन?

1. देश के सभी सरकारी बैंकों को सरकार ने इसके लिए अधिकृत किया है.

2. प्राइवेट बैंक जिसमें एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, सिटी यूनियन बैंक, डीसीबी बैंक, फेडरल बैंक, इंडस इंड बैंक, जम्‍मू एंड कश्‍मीर बैंक, कर्नाटक बैंक, करूर वैश्‍य बैंक, कोटक महिंद्रा, नैनीताल बैंक, साउथ इंडियन बैंक और यस बैंक व आईडीएफसी बैंक शामिल हैं।

3. रूरल बैंक

4. कोऑपरेटिव बैंक

5. नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों से भी मुद्रा लोन ले सकते हैं.

ये है पूरी डिटेल….https://www.mudra.org.in/Offerings

रेलवे का बड़ा एलान

लोन पर ब्याज दरें

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत कोई निश्चित ब्याज दर नहीं हैं. अलग—अलग बैंक या वित्तीय संस्थाएं अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं. आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12 फीसदी ही है.

कैसे मिलेगा लोन?

मुद्रा योजना के तहत लोन के लिए आपको सरकारी या बैंक की शाखा में आवेदन देना होगा. अगर
आप खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो आपको मकान के मालिकाना हक़ या किराये के
दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज देने होंगे. बैंक
मैनेजर वेरिफिकेशन के बाद लोन मंजूर करता है.

  • शिशु लोन– 50,000 रुपये तक
  • किशोर लोन– 50,000 से 5 लाख रुपये तक
  • तरुण लोन– 5 लाख से 10 लाख रुपये तक

मुद्रा योजना की कोई निश्चित ब्याज दर नहीं हैं. अलग-अलग बैंक अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं.
आमतौर पर ये ब्याज दर 11-12 फीसदी होती है. अब शिशु मुद्रा लोन पर दो फीसदी की छूट मिलेगी.

PM किसान सम्मान निधि योजना:जल्द आएगी छठी क़िस्त|सिर्फ एक क्लिक में देखे अपना नाम

कौन और कैसे मुद्रा योजना का फायदा उठा सकता है?
कोई भी व्यक्ति जो व्यापार शुरू करना चाहता है या अपने व्यापार को आगे बढ़ाना चाहता है, मुद्रा
योजना का फायदा उठा सकता है. अधिकतम 10 लाख रुपये तक का कर्जा आसानी से लिया जा
सकता है. अपने नजदीकी बैंक ब्रांच में जाकर मुद्रा लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. आवेदन के
समय व्यापार से जुड़ी जानकारी, आधार कार्ड, पैन नंबर इत्यादि कागजात देने होते हैं.

किसान कर्ज माफ़ी सूचि Kisan Karj Mafi List 2020

बैंक का ब्रांच मैनेजर आपसे कामकाज से बारे में जानकारी लेता है. उस आधार पर आपको PMMY
लोन मंजूर करता है. कामकाज की प्रकृति के हिसाब से बैंक मैनेजर आपसे एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट
बनवाने के लिए कह सकता है. अधिक जानकारी के मुद्रा योजना की आधिकारिक वेबसाइट
(https://www.mudra.org.in/) पर जा सकते हैं.

2019-20 की रिपोर्ट के मुताबिक, मुद्रा योजना के तहत 5,83,65,823 लोगों को 323,573 करोड़
रुपये के लोन की स्वीकृति दी गई है. इसमें से 316,099 करोड़ रुपये लोगों को दिए जा चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.