By | June 3, 2020
UP Majdur Card Yojana- मजदुर कार्ड योजना क्या है, मजदुर कार्ड कैसे बनाए, मजदुर कार्ड लिस्ट, मजदुर कार्ड फॉर्म,

UP Majdur Card Yojana- मजदुर कार्ड योजना क्या है, मजदुर कार्ड कैसे बनाए, मजदुर कार्ड लिस्ट, मजदुर कार्ड फॉर्म,

मजदुर कार्ड योजना क्या है

यूपी सर्कार द्वारा असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरो के लिए मजदुर कार्ड योजना शुरू की है इस योजना को लेबर कार्ड व श्रमिक कार्ड योजना के नाम से भी जाना जाता है अगर आप मजूदर है दिहाड़ी मजदूरी करते है तो आपके लिए यह पोस्ट बहुत ही काम की है अगर आप अपना मजदुर कार्ड बनाना चाहते है और इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आप इस पोस्ट की लास्ट तक पढ़े UP Majdur Card

UP Majdur Card Yojana- मजदुर कार्ड योजना क्या है, मजदुर कार्ड कैसे बनाए, मजदुर कार्ड लिस्ट, मजदुर कार्ड फॉर्म,

असंगठित मजदुर कोनसे होते है

उत्तरप्रदेश सर्कार की मजदुर कार्ड योजना का लाभ असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदुरो को दिया जाता है यहा लिस्ट में इसे मजूदर लिस्ट सामिल है जो यूपी मजदुर कार्ड योजना का लाभ ले सकते है

योजना का नाममजदुर कार्ड पंजीकरण
इनके द्वारा शुरू की गयीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थी राज्य के श्रमिक लोग
पंजीकरण का प्रकारऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइट http://uplabour.gov.in/

कौन कौन श्रमिक पंजीकरण करवा सकते है

  • बिल्डिंग का कार्य करने वाले
  • कुआ खोदने वाले
  • छप्पर छानेवाले
  • कारपेंटर का कार्य करने वाले
  • राजमिस्त्री
  • लोहार
  • प्लम्बर
  • सड़क निर्माण करने वाले
  • इलेक्ट्रिक वाले
  • पुताई करने वाले
  • हतोड़ा चलानेवाले
  • मोजेक पोलिश
  • चट्टान तोड़ने वाले
  • निर्माण स्थल पर चौकीदारी करने वाले
  • पत्थर तोड़ने वाले
  • लेखाकार का काम करने वाले
  • बांध  प्रबंधक ,भवन निर्माण के अधीन कार्य करने वाले
  • खिड़की ग्रिल एवं दरवाज़ों की गढ़ाई और स्थापना करने वाले
  • इट भट्टों पर इट का निर्माण करने वाले
  • सीमेंट ,पत्तर ढोने का काम करने वाले
  • चुना बनाने का काम करने वाले

Shramik Panjikaran के लिए दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
  • आवेदक की आयु  18 से 60 वर्ष के मध्य होनी चाहिए |
  • जिन श्रमिकों ने पिछले 12 महीने में कम से कम 90 दिन निर्माण श्रमिक के रूप में कार्य किया हो |
  • श्रमिक पंजीकरण में केवल परिवार के मुखिया के नाम पर ही श्रमिक कार्ड बनता है |
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • भामाशाह कार्ड
  • बैंक का विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • परिवार के सभी सदस्यों का पहचान पत्र

रमिक पंजीकरण के लाभ

  • कन्या विवाह योजना के तहत दो बेटियों की शादी पर 55 -55 हज़ार रूपये की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी |
  • मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत कक्षा 5 से 7 तक 4 हज़ार रूपये ,कक्षा 8 में 5 हज़ार रूपये ,कक्षा 9 व दस में 5 हज़ार रूपये ,कक्षा 11 व 12 में 8 हज़ार रूपये ,स्नातक ,से ऊपर इंजीनियरिंग या डिग्री की पढाई करने पर 11 हज़ार रूपये से 22 हज़ार रूपये तक दिए जायेगे |
  • बी ए के स्टूडेंट्स  को 13 से 15 हज़ार रूपये और ऍम ए के स्टूडेंट्स को 15 से 17 हज़ार रूपये |
  • मातृत्व हितलाभ योजना के अंतर्गत पंजीकरण महिलाओ को 12 हज़ार रूपये और शिशु लाभ हेतु लड़का होने पर 10 हज़ार रूपये और लड़की होने पर 12 हज़ार रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी |
  • आवास योजना के अंतर्गत मकान बनाने के लिए 1 लाख रूपये तथा भवन मरम्मत के लिए 15 हज़ार रूपये दिए जायेगे |
  • इन सभी योजनाओ का लाभ श्रमिक पंजीकरण करवा कर और श्रमिक कार्ड बनवाने  के बाद मजदूर लोग उठा सकते है|

श्रमिक पंजीकरण कैसे करे?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी अपना पंजीकरण करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके का पालन करे और सभी सरकारी योजना का लाभ उठाये |

प्रथम चरण

  • सर्वप्रथम आवेदक को श्रम विभाग की ऑफिसियल वेबसाइटपर जाना होगा | अब आपके सामने उत्तर प्रदेश लेबर डिपार्टमेंट की वेबसाइट खुल जाएगी |
  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा इस होम पेज पर आपको अधिनियम प्रबंधन प्रणाली का लिंक दिखाई देगा | फिर आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा |
  • फिर आपके सामने Labour Act Management System वेबसाइट खुल जाएगी | इसके बाद आपको अपनी भाषा का चयन करना होगा फिर वेबसाइट पर दिए गए निर्देशों को पढ़े और फिर पोर्टल के उपयोग हेतु पोर्टल की सदस्यता प्राप्त करनी होगी |
  • अगर आप नए यूज़र हो तो Register Now बटन पर क्लिक करना होगा फिर New Registration पर क्लिक करना होगा | दिए गए फॉर्म में अपना विवरण भरे और फिर यूज़र आईडी और पासवर्ड बनाये |
  • इसके पश्चात् यूज़र नाम और पासवर्ड डालकर लॉगिन करे | अब इस पोर्टल के अधिनियमों के अंतर्गत पंजीयन ,नवीनीकरण ,वार्षिक रिटर्न्स इत्यादि का उपयोग कर सकते है | सबसे पहले एक्ट का चयन करे कर पंजीकरण पर क्लिक करे |
  • क्लिक करने के बाद अगले पेज पर दिए गए निर्देश पढ़े और ‘I Have Read All Instruction Carefully ‘पर टिक करके I Agree के विकल्प पर क्लिक करे |

द्वितीय चरण

  • इसके बाद फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी भरनी होगी फॉर्म भरने के बाद फॉर्म को सेव करे |सुरक्षित आवेदन पर जा कर आप अपना सुरक्षित फॉर्म देख सकते है | अब आप अपना सुरक्षित फॉर्म का चयन करके उसको सम्पादित कर सकते है और ज़रूरी संलंगक लगा सकते है भुकतान कर सकते है इत्यादि |
  • Upload Attachment बटन पर जा कर आप ज़रूरी दस्तावेज़ Attachment करके अपलोड कर सकते है फिर chose फाइल में जा कर अपलोड अटेचमेंट को सेलेक्ट करके ओपन करे फिर आप पेमेंट बटन पर जा कर आवेदन संख्या डालकर भुकतान का प्रकार का चयन कर सकते है | भुगतान प्रकार के 2 प्रकार है 1 .चालान 2 .ऑनलाइन |चालान पर क्लिक करके आप चालान फॉर्म डाउनलोड कर सकते है अथवा ऑनलाइन सेलेक्ट करके Proceed to  Payment कर सकते है |
  • ऑनलाइन सेलेक्ट करने पर अब आप राजकोष की वेबसाइट पर है यहाँ आप pay without Registration पर क्लिक करके डिपार्टमेंट सेलेक्ट करे इसके बाद डिवीज़न के कॉलम से सम्बंधित क्षेत्रीय कार्यलय का नाम डाले फिर सेलेक्ट ट्रेज़री के कॉलम से सम्बंधित जनपद की ट्रेज़री को चुने फिर डेपोसिटोर नाम में फर्म का नाम डाले इसके पश्चात् सावधानीपूर्वक सम्बंधित अधिनियम के हेड का चयन का शुल्क अंकित करे |
  • फिर भुकतान के पश्चात् चालान नंबर ,दिनाक ,बैंक का नाम आदि भरकर सब्मिट करे अब आपकी application  सम्बंधित उप श्रमयुक्त के पास प्रेषित हो चुका है |इस तरह आपका आवेदन पूरा हो जायेगा |

up shram card registration,up labour card registration,यूपी श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन सम्पूर्ण जानकारी

दोस्तों यदि आप उत्तर प्रदेश में रहकर श्रमिक कार्ड बनवाना चाहते हैं ! तो यह आप बहुत ही आसान हो गया है ! क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार ने इसके लिए ऑनलाइन आवेदन लेना शुरू कर दिया है ! आप घर बैठे श्रमिक कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन (up shram card registration) कर सकते हैं ! अगर आप गाड़ी मजदूरी का काम करते हैं ,तो आप घर बैठे ही अपना लेबर कार्ड /श्रमिक कार्ड /मजदूरी कार्ड बनवा सकते हैं ! इसमें आपको कहीं दूसरी जगह जाने की कोई जरूरत नहीं है !

Need of up shram card registration,यूपी श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन क्यों कराएं

आपके मन में यह सवाल जरूर होगा की हम यूपी श्रमिक कार्ड क्यों बनवाए ! या यूपी श्रमिक कार्ड में रजिस्ट्रेशन ( up shram card registration) क्यों करवाएं ! तो मैं आपको यूपी श्रमिक कार्ड में रजिस्ट्रेशन कराने के अनेक फायदे बताने वाला ! उत्तर प्रदेश सरकार में जितनी भी मजदूरों श्रम को लिब्रो के लिए स्कीम लाई जाती है ! तो आप उसका इस कार्ड के माध्यम से फायदा उठा सकते हैं ! हाल ही में कोरोना की वजह से उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी मजदूर वर्ग के लोगों को ₹1000 उनके बैंक खाते में देने का वादा किया है ! यदि आपका इसमें रजिस्ट्रेशन होगा , तो आप ₹1000 के हकदार होंगे ! इसके साथ-साथ उत्तर प्रदेश सरकार की स्कीम का फायदा उठा सकते हैं ! जो श्रमिकों के लिए समय-समय पर चलाई जाती है !

उत्तर प्रदेश में श्रमिकों के लिए कल्याणकारी योजनायें

उत्तर प्रदेश में मजदूर श्रम या लेवल के लिए निम्न योजनाएं चलाई जाती हैं जिनका आप आवेदन करके भविष्य फायदा उठा सकते हैं

१. मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना

योजना का उद्देश्य

उ०प्र० भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के अन्तर्गत पंजीकृत लाभार्थी श्रमिकों के नवजात शिशुओं को ! उनके जन्म से दो वर्ष की आयु पूर्ण होने तक पौष्टिक आहार की व्यवस्था कराया जाना !

मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना पात्रता

सभी पंजीकृत कर्मकार (महिला एवं पुरूष) (लाभ अधिकतम दो बच्चों तक देय होगा) !

मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना हितलाभ

वर्ष में एक बार एक मुश्त (लडका होने पर 10000 लडकी पर 12000प्रति शिशु की दर से)‚ दो वर्ष की आयु तक ही देय है !

हितलाभ

पंजीकृत निर्माण श्रमिक को समस्त आर्हताओं की पूर्ति की स्थिति में ! उसकी पुत्री के विवाह हेतु रू 51,000 की धनराशि बोर्ड द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी ! तथा अन्र्तजातीय विवाह हेतु रू 55,000 की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी ! सामूहिक विवाह की स्थिति में न्यूनतम 11 जोड़ों के विवाह एक साथ एक स्थल पर आयोजित होने की दशा ! में रू 5,000 प्रति जोड़े की दर से आयोजन में होने वाले व्यय का भुगतान बोर्ड द्वारा !

3. मेधावी छात्र योजना !
4. संत रविदास शिक्षा सहायता योजना !
5. निर्माण कामगार आवास सहायता योजना!
6. चिकित्सा सुविधा योजना
7.आवासीय विद्यालय योजना !
8. कन्या विवाह सहायता योजना !
9. कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना
10. सौर ऊर्जा सहायता योजना !

उत्तर प्रदेश में श्रमिकों के लिए अन्य कल्याणकारी योजनायें

11. महात्मा गांधी पेंशन सहायता योजना !
12. कामगार गंभीर बीमारी सहायता योजना !
13. निर्माण कामगार अन्त्येष्टि सहायता योजना !
14. निर्माण कामगार मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना !
15. राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना !
16. शौचालय सहायता योजना !
17. पं. दीन दयाल उपाध्याय चेतना योजना !

PM Modi Yojana 2020: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी योजना

up shram card registration Benefite

1.मेधावी छात्र योजना के तहत पुत्र एवं पुत्री को कक्षा पांच से सात, चार हजार, कक्षा आठ में पांच हजार ! कक्षा नौ व दस में पांच हजार रुपये कक्षा ग्यारह व बारह में आठ हजार रुपये, स्नातक से उपर एवं इंजीनिय¨रग ! एवं डाक्टरी की डिग्री हेतु पढ़ाई करने पर 11 हजार से 22 हजार रुपये दिये जायेंगे !
2.सौर ऊर्जा सहायता योजना में सोलर लाइट एलइडी वल्ब दिया जाता है ! कार्य स्थल पर आने जाने के लिए साइकिल दिया जाता है !

3. अक्षमता पेंशन योजना के तहत एक हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन दी जायेगी ! गंभीर बीमारी सहायता योजना में श्रमिक स्वयं या उसके परिवारिक सदस्य के इलाज के लिए व्यय धन की प्रतिपूर्ति की जायेगी !
4. उसकी सभी पुत्री के विवाह के लिए 40 हजार रुपये प्रति पुत्री की दर से सहायता दी जायेगी ! कौशल विकास तकनीकी उन्नयन योजना के तहत पंजीकृत मजदूर ! उसकी पत्नी, पुत्र एवं  अविवाहित पुत्री को प्रशिक्षण, लेखन सामग्री तथा अवधि में अनुमन्य मजदूरी भी दी जायेगी !

up shram card registration other Benefit

5. 18 से 60 वर्ष आयु का व्यक्ति जिसने पिछले 12 माह में 90 दिन, मनरेगा में पचास दिन, कार्य करने वाला रजिस्ट्रेशन करा सकता है ! पंजीकृत मजदूर की मृत्यु होने पर परिवार के आश्रितों को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी !
6. मातृत्व हित लाभ योजना के तहत पंजीकृत महिला को 12 हजार रुपये ! तथा शिशु हित लाभ योजना में लड़का होने पर 10 हजार, लड़की होने पर 12 हजार रुपये दिये जाते हैं !

7. बालिका मदद योजना के तहत लड़की के जन्म के समय बीस हजार रुपये एक मुश्त सावधि जमा जो 18 वर्ष पूरा होने पर भुगतान किया जायेगा !
8. यदि दूसरी संतान भी पुत्री होती है तो उसको भी यह लाभ मिल सकेगा ! आवास योजना के तहत एक लाख रुपये मकान बनाने हेतु तथा 15 हजार रुपये भवन मरम्मत हेतु दिये जाते हैं ! 60 वर्ष की आयु पूरी करने वाले श्रमिकों को पांच सौ रुपये जीवित रहने तक ! उसे तथा मृत्यु के पश्चात पत्नी को पेंशन दी जाती है !

Leave a Reply

Your email address will not be published.